अंग्रेजों ने हमें बांटकर शासन किया था, 70 साल बाद फिर वही फार्मूला अपनाया जा रहा- बोले बॉलीवुड एक्टर तो मिलने लगे ऐसे जवाब

कमाल राशिद खान का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने अंग्रीज सरकार का जिक्र करते हुए तंज कसा है।

kamaal rashid khan, krk, krk tweet बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर कमाल राशिद खान सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। फिल्मी जगत से जुड़े मामलों पर ट्वीट करने के साथ-साथ कमाल राशिद खान अकसर समसामयिक मुद्दों और राजनीतिक मसलों पर भी विचार साझा करते हुए नजर आते हैं। हाल ही में उन्होंने ब्रिटिशों के फॉर्म्यूले का जिक्र करते हुए मौजूदा हालातों पर तंज कसा। कमाल राशिद खान ने ट्वीट में लिखा कि ब्रिटिशों की ‘फूट डालो राज करो’ की नीति को 70 साल बाद फिर से दोहराया गया है। अपने इस ट्वीट को लेकर एक्टर काफी सुर्खियों में भी आ गए।

कमाल राशिद खान ने अपने ट्वीट में ब्रिटिश सरकार का जिक्र करते हुए लिखा, “इतिहास की किताबों के मुताबिक ब्रिटिशों ने ‘फूट डालो राज करो’ की नीति अपनाकर भारत पर 100 साल तक शासन किया था। वह लोगों को धर्म के नाम पर भड़काते थे और उनके बीच लड़ाइयां भी करवाते थे। 70 साल के बाद फिर वही फॉर्म्यूला अपनाया गया।”

कमाल राशिद खान ने अपने ट्वीट में लिखा, “इतिहास खुद को दोहराता है।” उनके इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर ने भी खूब कमेंट किये। नितिन जोशी ने केआरके के ट्वीट पर आपत्ति जाहिर करते हुए लिखा, “इस प्रकार के ट्वीट भड़काऊ होते हैं और लोगों को गलत दिशा में लेकर जाते हैं।”

काजम नाम के यूजर ने कमाल राशिद खान के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “और ये वही लोग हैं, जिन्होंने उस वक्त भी ब्रिटिशों की मदद की थी।” जयादित्य ठाकुर नाम के यूजर ने एक्टर के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “बस फर्क इतना है कि इस बार 1947 की तरह देश फिर से नहीं टूटेगा।” बता दें कि इससे पहले भी कमाल राशिद खान अंग्रेजों का जिक्र करते हुए भाजपा पर तंज कसते आए हैं।

इसके अलावा कमाल राशिद खान ने सोनू सूद के लखनऊ व मुंबई स्थित ठिकानों पर पड़े इनकम टैक्स विभाग के छापों पर भी ट्वीट किया था। एक्टर ने लिखा था, “सरकार को उन लोगों का उत्पीड़न नहीं करना चाहिए, जो बिना किसी राजनीतिक मकसद के समाज की भलाई कर रहे हैं। क्योंकि ऐसा उत्पीड़न देखने के बाद बाकी लोग कभी भी किसी गरीब की मदद नहीं करेंगे।”