अगर मैं कहता ममता बनर्जी सूपनखा हैं तो अच्छा लगता? गौरव भाटिया ने कहा- ममता, समता, कमता बोल दूं

गौरव भाटिया ने कहा “हमारे वरिष्ठ नेताओं की दैत्य, रावण और पता नहीं क्या -क्या बुलाते हैं आप लोग। मैं बोलूँगा नहीं लेकिन अगर मैं ममता बनर्जी को सूपनखा बोलता तो क्या आपको अच्छा लगता। अपने क्या कहा हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नड्डा, चड्डा, वड्डा। मैं ममता, समता, कमता बोल दूं तो कैसा लगेगा। “

west bengal, election 2021, TV debate, gaurav bhatia, TMC, BJP, mamata banarjee, jansatta

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। इसको लेकर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने सवाल उठाया कि दूसरे राज्यों में एक, दो या तीन चरणों में चुनाव हो रहा है तो पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराने की घोषणा क्यों की गई है? इस मुद्दे पर न्यूज़ चैनल ‘आज तक’ के एक शो में चर्चा हो रही थी। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता गौरव भाटिया नाराज़ हो गए और तृणमूल कांग्रेस (TMC) नेता पर भड़कने लगे।

गौरव भाटिया ने कहा “हमारे वरिष्ठ नेताओं की दैत्य, रावण और पता नहीं क्या -क्या बुलाते हैं आप लोग। मैं बोलूँगा नहीं लेकिन अगर मैं ममता बनर्जी को सूपनखा बोलता तो क्या आपको अच्छा लगता। अपने क्या कहा हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नड्डा, चड्डा, वड्डा। मैं ममता, समता, कमता बोल दूं तो कैसा लगेगा। ” इसपर टीएमसी नेता ने कहा कि आप तोलबाज़ बोल रहे थे वो याद है। आप किसको तोलबाज़ बोल रहे थे? जब आप तोललबाजी बोले तो सही है। ”

गौरव भाटिया ने कहा “अपने प्रधान मंत्री जी को कहा थप्पड़ मारूँगी। कितना गंदा था ये बयान, जनता देख रही है। जब हम कहते हैं हमारे नेता वहां जाएंगे। तो सर्वोच्च न्यायालय में दीदी कहती हैं लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ जाएगा। तो जब चुनाव आयोग कहता है 8 चरणों में चुनाव कानून व्यवस्था के लिए अच्छा है। तो अब दिक्कत क्या है।”

पश्चिम बंगाल में ये पहला मौका नहीं है जब ममता ने इतने ज्यादा चरणों में चुनाव कराए जाने पर आपत्ति जताई है। 2019 के लोकसभा चुनाव में भी छह चरणों में चुनाव की घोषणा की गई थी, तब भी ममता बनर्जी ने इसका विरोध किया था। इससे पहले 2016 में भी जब 6 चरणों में चुनाव की घोषणा हुई थी, तब भी ममता बनर्जी ने आपत्ति जताई थी और बंगाल के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया था।