‘अच्छा टाइम चल रहा है मेरा, ले लो जितना मिल रहा है’, सोशल मीडिया रिएक्शंस पर शार्दुल ठाकुर ने रखी अपनी राय

हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ संपन्न हुई टेस्ट सीरीज में शार्दुल ठाकुर ने अपने गेंद और बल्ले दोनों से कमाल किया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर उन्हें लॉर्ड शार्दुल ठाकुर के नाम से बुलाया जाने लगा। वहीं ओवल में ट्विन फिफ्टी लगाकर भी शार्दुल ने इतिहास रचा था।

shardul-thakur-speaks-of-name-lord-and-social-media-reactions-also-tells-ms-dhoni-give-special-suggestion-to-improve-batting शार्दुल ठाकुर ने बैटिंग में कैसे किया था सुधार, एम एस धोनी ने दी थी खास सलाह (Source: Indian Express)

भारतीय क्रिकेट टीम के उभरते हुए सितारे शार्दुल ठाकुर ने इंग्लैंड में हाल ही में संपन्न हुई टेस्ट सीरीज में अपने प्रदर्शन से हर किसी को प्रभावित किया है। गेंद हो चाहें बल्ला शार्दुल ने हर मौके पर अपना 100 प्रतिशत दिया है। लंदन के केनिंग्टन ओवल मैदान पर खेले गए चौथे टेस्ट मैच की दोनों पारियों में अर्धशतक लगाने के साथ गेंदबाज से भारतीय टीम के ऑलराउंडर बनते जा रहे शार्दुल ने जो रूट जैसे स्टार खिलाड़ियों का अहम समय पर विकेट भी टीम को दिलाया।

इसके बाद सोशल मीडिया पर शार्दुल ठाकुर को लॉर्ड जैसे नामों से बुलाया जा रहा है। वहीं कई मीम्स भी इसको लेकर सामने आए। अपने प्रदर्शन और सोशल मीडिया पर आए रिएक्शंस को लेकर भारतीय खिलाड़ी ने हमारे सहयोगी इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत की।

चेन्नई सुपरकिंग्स के इस खिलाड़ी ने सबसे पहले ओवल टेस्ट के चौथे दिन अपनी और अपनी आईपीएल फ्रेंचाइजी के साथी सैम करन से हुई बातचीत साझा की। उन्होंने बताया कि,’मैंने सैम करन से कहा कि पिच सपाट है और हम बिना कोई विकेट खोए 100 रन बनाएंगे। डोंट वरी मैं विकेट ले लूंगा और तुम्हारी टीम के जल्द ही पांच विकेट गिर जाएंगे। संयोगवश ये सच भी हो गया।’

शार्दुल ने हंसते हुए मजाकिया अंदाज में ये कहा कि,’अच्छा टाइम चल रहा है मेरा, सो ले लो जितना मिल रहा है।’

‘इसी सोशल मीडिया पर मेरी आलोचना होती थी’

वहीं सोशल मीडिया रिएक्शंस पर बात करते हुए शार्दुल ने कहा कि,’मुझे लगता है कि मैंने अभी तक कुछ हासिल नहीं किया है। मैं संतुष्ट नहीं होना चाहता। मैंने वो दिन भी देखे हैं जब इसी सोशल मीडिया पर टीम में होने पर मेरी आलोचना होती थी। अब मैं ये सब काफी एनजॉय कर रहा हूं। इससे पता लग रहा है कि मुझे हर तरफ से कितना प्यार मिल रहा है।’

लॉर्ड शार्दुल ठाकुर नाम से सोशल मीडिया पर मशहूर हुए भारतीय क्रिकेटर ने कहा कि,’मुझे इन नामों से कोई आपत्ति नहीं है। मैं बस इतना लोगों से चाहता हूं कि वे मेरा नाम याद रखें मेरे खेल के लिए और मैंने जो मैच जीते उन्हें भी। यही एक चीज है जिसका मुझे फर्क पड़ता है।’

IPL 2021: प्रीति जिंटा की टीम ने दूसरे चरण की शुरुआत से पहले मांगे सुझाव, लोगों ने कहा- केएल राहुल पर मत डालो दबाव

कैसे सुधरी बैटिंग ?

शार्दुल ने अपनी अच्छी बैटिंग को लेकर एक किस्सा बताते हुए कहा कि,’जब दो साल पहले मेरे टखने में चोट लगी थी उस वक्त मैंने सोच लिया था कि बैटिंग पर ध्यान देना है। मेरे अंदर क्षमता थी और मैं उससे टीम में योगदान देना चाहता था। मैंने खुद से कहा कि कुछ भी हो जाए बैटिंग में अच्छा करना ही पड़ेगा। पिछले कुछ समय में मौका था मेरे पास खुद को साबित करने का लेकिन मैं नहीं कर पाया। जिसके बाद मैंने सोचा कि ये जारी नहीं रह सकता।’

ठाकुर ने आगे कहा कि,’मैंने बैटिंग के लिए भारत के थ्रो डाउन स्पेशलिस्ट रघु और श्रीलंकाई नुवान की मदद ली। वे बहुत तेजी से बॉल फेंकते थे कभी-कभी 150 प्रति घंटे की स्पीड से भी ज्यादा जिसे मैं नहीं खेल पाता था। मैं शुरू में दिक्कतों का सामना करता था जिसके बाद मैंने फुटवर्क पर काम किया और धीरे-धीरे बैटिंग सुधरने लगी।’

माही ने दी अहम सलाह

उन्होंने अपनी बैटिंग से जुड़ा एमएस धोनी का एक किस्सा भी साझा किया। शार्दुल ने बताया कि,’आईपीएल के दौरान एक बार मैं अपना बल्ला लिए खड़ा था। उस वक्त माही भाई ने मुझसे कहा कि बल्ले को ग्रिप पर थोड़ा नीचे से पकड़ा करो जिससे शॉट पर आपका कंट्रोल रहेगा। उसके बाद से मैंने ऐसा ही किया और मुझे शॉट खेलने में मदद भी मिली। इसके अलावा रोहित और विराट भाई ने भी मुझे काफी मोटिवेट किया और कहा कि बल्लेबाज की तरह सोचो जब आप बैटिंग करो। ये सोचो की आप में क्षमता है।’

ठाकुर ने आखिरी में कहा कि,’हम सभी टीमों की इज्जत करते हैं लेकिन दुनिया की किसी भी टीम से अब हम डरते नहीं है। हमें नहीं फर्क पड़ता टीम का क्या नाम है। चाहें ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड कोई भी हो हम बस जीतने के लिए खेलते हैं। हार और जीत खेल का पार्ट है लेकिन हमारी नजरें बस अपना जीत का औसत बढ़ाने पर होती हैं। टीम के हर खिलाड़ी के अंदर यही भावना है और इसके लिए हर खिलाड़ी अपना 100 प्रतिशत देने के लिए तैयार है।’