अजीत देओल से मिलने जब धर्मेंद्र के बंगले पर पहुंचीं ईशा देओल, प्रकाश कौर को देखते ही किया था ये काम

ईशा देओल चाचा अजीत देओल से मिलने के लिए धर्मेंद्र के घर गई थीं, जहां उनकी मुलाकात ऐक्टर की पहली पत्नी प्रकाश कौर से भी हुई थी।

esha deol, dharmendra, hema malini ईशा देओल की जब पहली बार हुई थी प्रकाश कौर से मुलाकात (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड ऐक्टर धर्मेंद्र और ऐक्ट्रेस हेमा मालिनी 1980 में शादी के बंधन में बंधे थे। शादी के बाद भी हेमा मालिनी को ऐक्टर की पहली पत्नी या बच्चों से कोई परेशानी नहीं हुई। हेमा मालिनी और धर्मेंद्र के घर भी एक-दूसरे से कुछ ही मिनट की दूरी पर स्थित थे, लेकिन ऐक्ट्रेस वहां कभी नहीं गईं। हालांकि हेमा मालिनी की बड़ी बेटी ईशा देओल सौतेले भाई सनी देओल की मदद से धर्मेंद्र के बंगले पर पहुंची थीं। उन्होंने वहां पर ऐक्टर की पहली पत्नी प्रकाश कौर से भी मुलाकात की थी।

इस बात का खुलासा खुद ईशा देओल ने रेडिफ डॉट कॉम को दिए इंटरव्यू में किया था। ईशा देओल ने बताया था कि असल में वह अपने चाचा अजीत देओल से मिलने के लिए धर्मेंद्र के बंगले में गई थीं। ऐक्ट्रेस ने इस बारे में कहा था, “मैं चाचा से मिलना चाहती थी। मेरे और आहाना के साथ उनका व्यवहार काफी अच्छा था और अभय के भी हम काफी नजदीक थे।”

ईशा देओल ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा था, “मेरे पास उनसे मिलने का कोई चारा नहीं था, क्योंकि वह बेड पर थे और न ही वह अस्पताल में थे, जहां हम जा सकते थे। ऐसे में मैंने सनी भैया को फोन किया और उन्होंने ही सारा इंतजाम किया था।” इस दौरान ईशा देओल की धर्मेंद्र की पहली पत्नी प्रकाश कौर से भी मुलाकात हुई थी।

ईशा देओल ने सौतेली मां संग हुई मुलाकात पर बात करते हुए कहा था, “मैं उनसे पहली बार मिली थी। मैंने उनके पैर छुए और उन्होंने भी मुझे आशीर्वाद दिया। फिर मैं वहां से चली गई थी।” बता दें कि धर्मेंद्र की पहली पत्नी का जिक्र हेमा मालिनी ने अपनी बायोग्राफी में भी किया था। उन्होंने बताया था कि वह कभी भी ऐक्टर के परिवार से नहीं मिलीं, न ही वह उन्हें परेशान करना चाहती थीं।

हेमा मालिनी ने इस सिलसिले में कहा था, “मैं किसी को भी परेशान नहीं करना चाहती थी। मैं खुश हूं उस बात से जो धर्म जी ने मेरे और मेरी बेटियों के लिए किया है। उन्होंने एक पिता की भूमिका निभाई, जो कि हर पिता करेगा। मुझे लगता है कि मैं इन चीजों के साथ खुश हूं। भले ही मैंने प्रकाश से कभी बात नहीं की, लेकिन मैं उनका बहुत सम्मान करती हूं। यहां तक कि मेरी बेटियां भी धर्म जी के परिवार का सम्मान करती हैं।”