अपराधियों को गिरफ्तार करने गई दिल्ली पुलिस की टीम पर होने लगी पत्थरबाजी, VIDEO सामने आने के बाद 10 को दबोचा गया

वीडियो में दिख रहे शख्स के हौसले इतने बुलंद हैं कि पुलिस सड़क पर काफी दूर तक अपनी गाड़ी को बैक करती रही, लेकिन ये शख्स आगे बढ़कर गाड़ी पर पत्थर चलाता रहा।

Delhi Police दिल्ली के शाहदरा जिले में सीमापुरी में फायरिंग करने के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर पथराव का वीडियो सामने आया है। (फोटो सोर्स- Twitter/@mukeshmukeshs)

दिल्ली में अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हैं, इस बात का अंदाजा शाहदरा जिले में सीमापुरी में हुई घटना से लगाया जा सकता है। मामला एक अक्टूबर का है, जब दिल्ली के शाहदरा जिले में सीमापुरी में फायरिंग करने के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर पथराव हुआ था। इस घटना में दिल्ली पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें 2 महिलाएं भी शामिल हैं।

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। जिसे मुकेश सिंह सेंगर (@mukeshmukeshs) ने ट्विटर पर पोस्ट किया है। इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पुलिस अपनी गाड़ी को सड़क पर बैक कर रही है और एक शख्स उस गाड़ी पर सामने से पत्थर चला रहा है।

इस शख्स के हौसले इतने बुलंद दिख रहे हैं कि दिल्ली पुलिस सड़क पर काफी दूर तक अपनी गाड़ी को बैक करती रही, लेकिन ये शख्स आगे बढ़कर गाड़ी पर पत्थर चलाता रहा। इस वीडियो में आरोपी शख्स के साथ कई लोग भी दिखाई दे रहे हैं।

इस वीडियो के सामने आने के बाद ये बहस भी तेज हो गई है कि क्या अपराधियों के बीच पुलिस का खौफ खत्म हो गया है। क्योंकि इससे पहले दिल्ली को रोहिणी कोर्ट में भी कुछ समय पहले गोलीबारी हुई थी। इस फायरिंग में 3 लोगों की मौत हुई थी।

खुलेआम कोर्ट में हुई इस फायरिंग से हड़कंप मच गया था, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा करने के लिए सुझाव दिए थे।

सवाल ये है कि जो लोग खुलेआम फायरिंग कर रहे हैं और दिल्ली पुलिस पर हमला कर रहे हैं, इनके पीछे किन लोगों का हाथ है। आखिर वो कौन सी ताकतें हैं, जो राज्य की सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती दे रही हैं। इन सवालों के जवाब खोजना अब बहुत जरूरी हो गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, शाहदरा जिले में सीमापुरी में हुई घटना में थानाध्यक्ष पदम सिंह राणा समेत 5 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। पुलिस पर तलवार और पत्थरों से हमला किया गया था।

घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, लेकिन प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। पुलिस की जांच में सामने आ रहा है कि फायरिंग बंगाली झुग्गी में रहने वाले बदमाशों ने की है।