अब यूपी और बिहार के बीच चलेगी पैसेंजर ट्रेन, इन अहम शहरों से होकर गुजरेगी

भारतीय रेलवे के मुताबिक, उत्तर पूर्व रेलवे द्वारा 1 सितंबर से थावे-कप्तानगंज-थावे के बीच एक अनारक्षित विशेष एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन किया जाएगा।

Indian Railway, Indian Rail कोरोना महामारी के कारण अभी सभी ट्रेनों का संचालन नहीं हो रहा है। तस्वीर केवल प्रस्तुति के लिए इस्तेमाल की गई है

कोविड -19 के मामलों में कमी आने के साथ ही भारतीय रेलवे ने देशभर के अहम शहरों को जोड़ने वाली कई विशेष ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया है। मंगलवार को भी, भारतीय रेलवे ने बिहार और उत्तर प्रदेश के अहम शहरों को जोड़ने वाली विशेष एक्सप्रेस ट्रेनों की एक जोड़ी संचालित करने की योजना की घोषणा की।

भारतीय रेलवे के मुताबिक, उत्तर पूर्व रेलवे द्वारा 1 सितंबर से थावे-कप्तानगंज-थावे के बीच एक अनारक्षित विशेष एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन किया जाएगा। उत्तर पूर्व रेलवे के प्रवक्ता पंकज कुमार ने कहा, “रेलवे ने यात्रियों की मांग और सुविधा को देखते हुए थावे-कप्तानगंज-थावे के बीच अनारक्षित दैनिक एक्सप्रेस विशेष ट्रेनों की एक जोड़ी संचालित करने का फैसला किया है।”

उत्तर पूर्व रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि अगले आदेश तक हर दिन निर्धारित समय पर ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। प्रवक्ता के अनुसार 1 सितंबर से 05165 थावे-कप्तानगंज अनारक्षित दैनिक स्पेशल ट्रेन थावे से सुबह 10:20 बजे अपनी यात्रा शुरू करेगी और लगभग 12:50 बजे कप्तानगंज पहुंचेगी।

पूर्वोत्तर रेलवे के प्रवक्ता के अनुसार, बिहार और उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली विशेष एक्सप्रेस ट्रेन नरकटिया बाजार, सासमुसा, सिपाया, जलालपुर, तिनफेरिया, तार्यसुजन, तमकुही रोड, गौरी श्रीरामपुर, दुदही, चाफ हॉल्ट, कठकुजन, पडरौना, बरहरागंज,रामकोला, लक्ष्मीनगर और मथिया बरघाट में रुकेगी।

पूर्वोत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने आगे कहा कि ट्रेन संख्या 05166 कप्तानगंज-थावे कप्तानगंज रेलवे स्टेशन से दोपहर 1:30 बजे अपनी यात्रा शुरू करेगी और लगभग 3:30 बजे थावे पहुंचेगी। थावे-कप्तानगंज-थावे अनारक्षित विशेष एक्सप्रेस ट्रेन में आठ द्वितीय श्रेणी और दो एसएलआर/डी सहित कुल 10 डिब्बे होंगे।

पिछले साल मार्च में, रेलवे ने पहले लॉकडाउन की घोषणा के बाद, कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में अपनी यात्री ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। अनलॉक के साथ ही रेलवे ने देश के अहम शहरों को जोड़ने वाली कई विशेष यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू किया। हालाँकि, भारतीय रेलवे ने अभी तक अपनी समय-सारणी वाली ट्रेनों को शुरू नहीं किया है।

गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने छह लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनएमपी) की घोषणा की है। इसके तहत यात्री ट्रेन, रेलवे स्टेशन से लेकर हवाई अड्डे, सड़कें और स्टेडियम का मौद्रिकरण शामिल हैं। इन बुनियादी ढांचा क्षेत्रों में निजी कंपनियों को शामिल करते हुए संसाधन जुटाये जायेंगे और संपत्तियों का विकास किया जायेगा।