अमिताभ बच्चन के कंसर्ट का टिकट नहीं खरीद पाए थे गरीब फैन, उनसे मिलने बस्ती में जा पहुंचे थे महानायक

अमिताभ बच्चन ने बताया था कि उन्हें लोग भारत के साथ- साथ विदेशों में भी खूब प्यार देते हैं। एक बार वो अपने कंसर्ट के सिलसिले में साउथ अफ्रीका गए थे जहां उनके कुछ फैंस के पास टिकट खरीदने के लिए पैसा नहीं था तो वो….

amitabh bachchan, amitabh bachchan first film, amitabh bachchan fans

अमिताभ बच्चन को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का महानायक कहा जाता है। साल 1969 में उन्होंने फिल्म सात हिंदुस्तानी से अपने करियर की शुरुआत की और कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उनके करियर की सबसे खास बात यह रही कि वो जितने उस दौर के सिनेमा के लिए प्रासंगिक थे आज के बॉलीवुड में भी उतने ही प्रासंगिक हैं। उन्होंने समय के साथ अपने किरदारों में बदलाव किया और शायद यही वजह रही कि वो सदी के महानायक कहे गए।

अमिताभ बच्चन की लोकप्रियता भारत में तो है हीं, विदेशों में भी उनके काफी फैंस हैं। वो भी अपने फैंस को कभी निराश नहीं करते जिसका एक उदाहरण उन्होंने खुद एक इंटरव्यू के दौरान दिया था। लेहरन नामक मीडिया प्लेटफॉर्म को दिए गए एक  इंटरव्यू में अमिताभ बच्चन ने कहा था कि उन्हें लोग भारत के साथ- साथ विदेशों में भी खूब प्यार देते हैं और इसकी झलक तब मिलती है जब वो कंसर्ट्स आदि के सिलसिले में वहां जाते हैं।

उन्होंने बताया था, ‘लोगों का प्यार जो देखने को मिलता है उसके लिए मेरे पास शब्द नहीं होते, मेरे लिए भावुक समय होता है। चाहे वो भारत में हो या विदेश में। जब कभी अपने कंसर्ट्स के सिलसिले में विदेश गया हूं तो वहां पर भारतीय नागरिक और विदेशी लोगों से जो स्नेह मिला है उसे बता नहीं सकता।’

अमिताभ ने आगे बताया, ‘साउथ अफ्रीका में जब एक बार शो करने गया था तब वहां पर एक कॉलोनी में मेरे फैंस के पास इतना पैसा नहीं था कि वो कंसर्ट के टिकट खरीद सके। तो मैं उनसे मिलने चला गया। जब मैं वहां गया तो भारी भीड़ जमा हो गई। हम सब गदगद हो गए थे।’

अमिताभ बच्चन ने यह भी कहा था कि हर शाम उनके बंगले के बाहर लोग उनसे मिलने आते हैं जिन्हें देखकर वो प्रभावित होते हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता लोग क्यों उनसे मिलने आते हैं।

अमिताभ बच्चन आज सफलता के शिखर पर हैं, लेकिन उनका शुरुआती दौर ऐसा था कि उनकी फिल्में लगातार फ्लॉप हो रही थीं। पहली फिल्म सात हिंदुस्तानी फ्लॉप रही थी इसके बाद उन्होंने रेशमा और शेरा फिल्म में काम किया लेकिन ये भी उन्हें पहचान दिलाने में कामयाब नहीं रही।

राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में उनके काम को पसंद किया गया लेकिन फिर उनकी फ्लॉप फिल्मों का सिलसिला शुरू हुआ। अमिताभ बच्चन के करियर में उछाल तब आया जब उन्होंने प्रकाश मेहरा की फिल्म जंजीर में काम किया।