‘आपके पेट में दर्द क्यों हो रहा है?’ अमिश देवगन से ‘तालिबान’ पर पैनलिस्ट पूछने लगे सवाल, एंकर ने पलट कर दिया जवाब

अमिश देवगन की लाइव डिबेट में पैनलिस्ट वकील असगर खान ने उनसे सवाल कर लिया कि- ‘हमारे और आपके पेट में दर्द क्यों हो रहा है?’

taliban attack afghanistan अफगानिस्तान में तालिबान (फोटो- PTI)

शादाब चौहान और मुनव्वर राणा जैसे कई नामी लोगों ने तालिबान का खुलकर समर्थन किया है। तालिबान का अफगानिस्तान में कब्जे को लेकर और भारत में चंद लोगों द्वारा इसका समर्थन करने को लेकर न्यूज 18 इंडिया के एंकर और पत्रकार अमिश देवगन भड़कते हुए नजर आए। ऐसा भी हुआ जब इस लाइव डिबेट के दौरान अमिश देवगन से एक पैनलिस्ट ने सवाल कर डाला कि ‘आपके पेट में क्यों दर्द हो रहा है?’ ऐसे में अमिश देवगन ने भी इस सवाल का सीधा-सीधा जवाब दिया।

अमिश देवगन की लाइव डिबेट में पैनलिस्ट वकील असगर खान ने उनसे सवाल कर लिया कि- ‘हमारे और आपके पेट में दर्द क्यों हो रहा है?’ इस पर अमिश देवगन ने गुस्से भरे अंदाज में कहा- ‘मेरे पेट में दर्द है सर, क्योंकि इंसानियत मर रही है! पेट के साथ मेरे दिल में भी दर्द है क्योंक इंसानियत शर्मसार हो रही है। मेरा दिल इसलिए भी दुखी है कि इस देश में खाने वाले लोग इस देश को गाली दे रहे हैं।’

एंकर आगे बोले- ‘भारत का खाने वाले लोग ऐसा कर रहे हैं। अरे याद करना तो उन्हें याद करें जो इस देश में महान से महान शख्सियत बनकर उभरे। उन सपूतों को याद करें.. अब्दुल कलाम को याद करें, अब्दुल हामिद को, याद करना है तो याद करिए विक्रम बत्रा को जिसने कहा था- या तो तिरंगा लहराकर आऊंगा या तिरंगे में लिपट कर आऊंगा।’

अमिश देवगन भड़कते हुए बोले- ‘याद करना है तो कैप्टन सौरव को करो..जिसको पाकिस्तान ने सिगरेट से जला दिया था। लेकिन तालिबान के एजेंडे के ऊपर और तालिबान की ताल पर थिरकने वाले लोगों के लिए एक ही जवाब है, कि कृपया करके अपना तालिबान प्रेम, अगर इतना ही प्रिय है तालिबान तो जानिए छुट्टियों पर वहां भाई। टूरिस्ट बन कर जाओ तो सही। कुछ दिन तो गुजारो तालिबान में।’

इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर कर अमिश देवगन ने कैप्शन में लिखा-‘मुझे दर्द है क्योंकि अफ़ग़ानिस्तान में इंसानियत मर रही है, मेरे दिल में जख़्म है क्योंकि इंसानियत शर्मसार हो रही है। और सबसे ज्यादा दुख तो इस बात का है कि मेरे देश के ही कुछ लोग तालिबान का समर्थन कर रहे हैं।’