आपको कोरोना से डर नहीं लगता? किसान नेता राकेश टिकैत से पूछने लगे एंकर, मिला ऐसा ज़वाब

एंकर ने सवाल किया कि राकेश टिकैत और आंदोलन पर आरोप है कि हरियाणा में इस आंदोलन की वजह से ही कोरोना केस बढ़े हैं। इस सवाल का जवाब देते हुए राकेश टिकैत कहते हैं- ‘हमारे आंदोलन से…

farm laws, farmers

न्यूज 24 की डिबेट के दौरान एंकर मनक गुप्ता ने जब राकेश टिकैत से सवाल पूछा कि कोरोना के संकट के बीच क्या उन्हें भीड़ के साथ आंदोलन करने में डर नहीं लगता? उन्होंने पूछा कि राकेश टिकैत और आंदोलन पर आरोप है कि हरियाणा में इस आंदोलन की वजह से ही कोरोना केस बढ़े हैं। इस सवाल का जवाब देते हुए राकेश टिकैत कहते हैं- ‘हमारे आंदोलन से कोरोना नहीं फैल रहा, ये सरकार कोरोना से फेल होने के बाद अब बहानेबाजी में लगी हुई है।

ऐसे में एंकर मनक ने टिकैत से सवाल किया- कैप्टन अमरिंदर नाराज हो गए हैं कि देखों मैंने लॉकडाउन लगवाया है और ये आंदोलन कर रहे हैं यहां पर! इस पर टिकैत जवाब देते हैं, ‘देखो हमने तो सरकार को कहा कि वैक्सिनेशन करवाओ यहां पर। जिसको लगवानी हो लगवालो। एक तरफ कहते हैं कि भीड़ हो गई। तो सरकार ये कह दे कि भाई जब तक कोविड है, और इतनी भीड़ है तो इतनों को ही हमने मोर्चा मान लिया। आप ज्यादा भीड़ यहां पर न बढ़ाओ। अपने मोर्चे ऐसे के ऐसे ही रखो।’

उन्होंने आगे कहा- ‘इससे गांव के लोग गांव में रहें और आंदोलन में बैठे लोग आंदोलन में रहे। इसके बाद जो भी 10 -20 दिन में बातचीत होगी वो कर लेंगे। एक तरफ कहते हैं कि बहुत सारी भीड़ इकट्ठी कर ली! भाई हमें बताओ कि फिर हमें क्या करना है? या तो वो कहें कि हम जो कहें वो मान ली गई है। तो हम भी गांव से लोग नहीं बुलाएंगे।’

राकेश टिकैत ने आगे बताया- ‘यहां पर सोशल डिस्टेंस बना रहता है। यहां पर मकान बना रखे हैं जो कि पूरी तरह से हवादार हैं। यहां पर दवाइयों का इंतजाम भी किया हुआ है। ये तो हरियाणा सरकार की भी जिम्मेदारी है कि यहां पर साफ सफाई का भी ध्यान रखा जाए।’

इस पर एंकर कहते हैं कि – ‘आरोप लगाया जा रहा है कि इस आंदोलन की वजह से हरियाणा के कई गांवों में कोरोना बुरी तरह से फैल गया है और हॉटस्पॉट बन गया है?’ इस पर टिकैत कहते हैं- ‘हां, हां पहले तो कोरोना था ही नहीं! दिल्ली की कलोनियों में जो कोरोना फैल रहा है वहां के लोग तो यहां थे नही।’

उन्होंने आगे कहा- ‘हमारे देश में कितने लोग कोरोन से पीड़ित हैं हमारे कई पत्रकार भाई भी चले गए। सब पूरे देश में जा रहे, क्या यहीं है कोरोना? सरकार को इसपर काम करना चाहिए, दवाइयां देनी चाहिए। लोगों का ख्याल रखना चाहिए। इनका तो है कि कहने के लिए कुछ कहलो। और सिर्फ कहने के लिए कोरोना कह लो।’