आपदा के अवसर में राजनीतिक अवसर ढूंढने की कोशिश- हेमंत सोरेन के PM पर किए गए ट्वीट को लेकर बोले संबित पात्रा

कोरोना महामारी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा को लेकर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक ट्वीट कर दिया जिस पर खूब बवाल मचा हुआ है। संबित पात्रा ने हेमंत सोरेन पर आपदा के अवसर में राजनीति करने का आरोप लगाया है।

sambit patra, narendra modi, hemant soren

कोरोना संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन कर कोरोना महामारी पर चर्चा की। इस चर्चा को लेकर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक ट्वीट कर दिया जिस पर खूब बवाल मचा हुआ है। सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि आज आदरणीय प्रधानमंत्री ने फोन किया। उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की। बेहतर होता यदि वो काम की बात करते और काम की बात सुनते। उनके इस ट्वीट पर टीवी डिबेट्स में भी जमकर बहस देखने को मिली। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने डिबेट शो में हेमंत सोरेन पर आपदा के अवसर में राजनीति करने का आरोप लगाया।

संबित पात्रा ने रिपब्लिक टीवी के डिबेट शो, ‘पूछता है भारत’ पर हेमंत सोरेन के ट्वीट पर कहा कि वो कोरी राजनीति कर रहे हैं। वो बोले, ‘आज जब हेमंत सोरेन को प्रधानमंत्री जी ने फोन किया कि किस प्रकार कंटेनमेंट जोन बनाने की जरूरत है, कौन- कौन से जिले हैं झारखंड में जिन पर फोकस करने की जरूरत है। एक्सपर्ट कमिटी का जो मत था उसे लेकर जब हेमंत सोरेन जी को अवगत कराया और हेमंत सोरेन जी ने पूरा विषय सुनने के बाद जिस प्रकार का ट्वीट किया है, मुझे लगता है ये कोरी राजनीति है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘कहीं न कहीं आपदा के इस अवसर में राजनीतिक अवसर ढूंढने की कोशिश की जा रही है, ये नहीं होना चाहिए।’ डिबेट के दौरान संबित पात्रा ने कांग्रेस नेताओं के बयानों पर भी जमकर अपना गुस्सा निकाला।

पी चिदंबरम के एक बयान को याद दिलाते हुए उन्होंने कहा, ‘पी चिदंबरम ने ट्वीट कर एक आह्वान किया था कि हिंदुस्तान की जनता सड़क पर आकर बगावत पर उतर आए। हिंदुस्तान की जनता इस सरकार को गिरा दे। ये कैसी बात है? अभी हमें कोरोना से लड़ना है या सड़क पर उतरकर बगावत करना है और सरकार को गिराना है?’

कोरोना महामारी पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी के हालिया बयानों पर संबित पात्रा ने कहा, ‘आज मैं सोनिया जी को सुन रहा था और राहुल जी को भी सुन रहा था। ये ट्विटर पर सरकार चलाना और वास्तविक में सरकार चलाने में बहुत फर्क है। ट्विटर पर कभी भी यू टर्न ले लो। पहले राहुल गांधी कह रहे थे कि ये तुगलकी लॉकडाउन लगा दिया मोदी जी ने, उन्हें माफी मांगनी चाहिए। आज अचानक कह रहे हैं, हमें लॉकडाउन की जरूरत है।’

आपको बता दें कि राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि देश में संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत है। वहीं कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि कोरोना पर काबू पाने में सिस्टम नहीं बल्कि सरकार फेल साबित हुई है।