आबिद अली ने तोड़ा यूनिस खान का 8 साल पुराना रिकॉर्ड, 36 साल के ताबिश खान ने डेब्यू मैच में रचा इतिहास

पहला मैच खेल रहे 36 साल के ताबिश खान ने खतरनाक गेंदबाजी की। उन्होंने अपने पहले ही ओवर में तारिसाई मुसाकांदा को आउट कर दिया। ताबिश 18 साल प्रथम श्रेणी में खेलने के बाद पाकिस्तान के लिए डेब्यू करने का मौका मिला।

Abid Ali, Tabish Khan

पाकिस्तान और जिम्बाब्वे के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला हरारे में खेला जा रहा है। टेस्ट के दूसरे दिन पाकिस्तान की टीम ने पहली पारी में 8 विकेट पर 510 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर दी। जवाब में जिम्बाब्वे की टीम पहली पारी में 4 विकेट पर 52 रन बनाकर संघर्ष कर रही है। पाकिस्तान के लिए पहली पारी में ओपनर आबिद अली ने शानदार दोहरा शतक लगाया। वे 407 गेंद पर 215 रन बनाकर नाबाद रहे। यह टेस्ट में उनका पहला दोहरा शतक है।

आबिद ने अपनी पारी के दौरान एक बड़ा रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज यूनिस खान को पछाड़ दिया। यूनिस के नाम पाकिस्तान के लिए जिम्बाब्वे में सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड दर्ज था। उसे आबिद ने अब अपने नाम कर लिया। यूनिस ने 2013 में हरारे में ही नाबाद 200 रन बनाए थे। मोहम्मद वसीम ने 1998 में इसी मैदान पर 192, मोहम्मद यूसुफ ने 2002 में बुलावायो में 159 और फवाद आलम ने 2021 में हरारे में 140 रन बनाए थे। आबिद ने अपनी पारी के दौरान 29 चौके लगाए।

आबिद के अलावा पाकिस्तान के लिए पारी में अजहर अली ने 126 और निचले क्रम के बल्लेबाज नौमान अली ने 97 रन बनाए। नौमान ने 104 गेंद की पारी में 9 चौके और 5 छक्के लगाए। उनके आउट होते ही कप्तान बाबर आजम ने पारी घोषित कर दी। टीम के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने 21 और साजिद खान ने 20 रन बनाए। जिम्बाब्वे के लिए ब्लेसिंग मुजारबानी ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। टेंडाई चिसोरो को दो सफलता मिली।

पाकिस्तान ने गेंदबाजी में शानदार प्रदर्शन किया। अपना पहला मैच खेल रहे 36 साल के ताबिश खान ने खतरनाक गेंदबाजी की। उन्होंने अपने पहले ही ओवर में तारिसाई मुसाकांदा को आउट कर दिया। ताबिश 18 साल प्रथम श्रेणी में खेलने के बाद पाकिस्तान के लिए डेब्यू करने का मौका मिला। वे डेब्यू से पहले 598 फर्स्ट क्लास विकेट ले चुके थे। वे इस मैच से पहले 27607 गेंद फेंक चुके थे। वे पिछले 70 साल में अपने पहले ही ओवर में विकेट लेने वाले सबसे उम्रदराज गेंदबाज बन गए। 1951 में 40 साल के जीडब्ल्यू चब ने दक्षिण अफ्रीका के लिए इंग्लैंड के खिलाफ विकेट लिया था।