इंग्लैंड को वर्ल्ड कप दिलाने वाले कप्तान इयोन मॉर्गन ने लिया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास, टीम को ले गए थे फर्श से अर्श तक

इंग्लैंड के 2019 विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मॉर्गन ने तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। मॉर्गन ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच इस महीने की शुरुआत में नीदरलैंड के खिलाफ खेला।

इयोन मोर्गन। (फोटो- रॉयटर्स)

इंग्लैंड के 2019 विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मॉर्गन ने तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। मॉर्गन ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच इस महीने की शुरुआत में नीदरलैंड के खिलाफ खेला। वह लगातार दो मैचों में डक पर आउट हुए। आयरिश मूल के क्रिकेटर को तीसरे वनडे से पहले फिटनेस की समस्या थी। वह ग्रोइन इंजरी का हवाला देते हुए सीरीज से बाहर हो गए थे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को भारत के खिलाफ टी-20 और वनडे सीरीज से पहले अलविदा कहा।

मॉर्गन ने काफी नाजुक समय में टीम की कमान संभाली थी। वह टीम को फर्श से अर्श तक लेकर गए। उन्हें साल 2015 क्रिकेट विश्व कप में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद से सफेद गेंद वाले क्रिकेट में इंग्लैंड क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया था। इसके बाद वह टीम को अभूतपूर्व ऊंचाइयों पर ले गए। उन्होंने न केवल 2019 में इंग्लैंड को वनडे विश्व कप का खिताब दिलाया, बल्कि उन्हें एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और टी-20 में नंबर 1 रैंकिंग पर भी ले गए।

मॉर्गन के नेतृत्व में इंग्लैंड की टीम ने तीन बार वनडे क्रिकेट की एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। पिछले हफ्ते नीदरलैंड के खिलाफ टीम ने 498/4 का स्कोर खड़ा किया था। वह उस इंग्लैंड की उस टीम का भी हिस्सा थे, जिसने 2010 में टी 20 वर्ल्ड कप में अपना पहला खिताब जीता था। टीम 2016 में फाइनल में पहुंची थी। तब वह टीम के कप्तान थे।

guru transit 2022, jupiter transit 2022

1 साल तक इन राशियों पर रहेगी देवताओं के गुरु बृहस्पति की विशेष कृपा, आकस्मिक धनलाभ और भाग्योदय के प्रबल आसार

Azam Khan| samajwadi party| uttar pradesh|

रामपुर लोकसभा उपचुनाव: मुस्लिम बहुल इलाकों में बीजेपी को मिले कितने वोट, आजम खान के गढ़ में कैसे बदल गया खेल, जानें

agnipath sceame | kanhaiya kumar | modi government

अग्निपथ का विरोध करने पहुंचे कन्हैया कुमार को युवाओं ने कहा- देशद्रोही, हुई मारपीट

1 साल तक इन 3 राशि वालों को मिलेगा राहु ग्रह का विशेष आशीर्वाद, आकस्मिक धनलाभ और उन्नति के प्रबल योग

मॉर्गन ने वनडे में 126 बार और टी-20 क्रिकेट में 72 बार इंग्लैंड का नेतृत्व किया। 2009 में इंग्लैंड का रुख करने से पहले उन्होंने आयरलैंड की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। उन्होंने 340 सीमित ओवरों के अंतरराष्ट्रीय मैचों इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व। इंग्लैंड के लिए उन्होंने 2010 से 2012 के बीच 16 टेस्ट खेले। इस दौरान दो शतक बनाए।

मॉर्गन ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा, “बहुत सोच विचार करने के बाद, मैं तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा कर रहा हूं। यह आसान निर्णय नहीं रहा है, लेकिन मेरा मानना ​​है कि मेरे और इंग्लैंड क्रिकेट दोनों के लिए ऐसा करने का सही समय है।”

ईसीबी ने अपने बयान में कहा, “इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) इस बात की पुष्टि करता है कि इंग्लैंड मेंस क्रिकेट के व्हाइट बॉल कप्तान इयोन मॉर्गन ने तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। इंग्लैंड के साथ अपने 13 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान 35 वर्षीय खिलाड़ी ने लॉर्ड्स में 2019 में कप्तान के रूप में आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप जीता। पहली बार इंग्लैंड मेंस क्रिकेट टीम चैंपियन बनी थी। वह कैरेबियाई सरजमीं पर 2010 आईसीसी मेंट टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली इंग्लैंड टीम का भी हिस्सा थे।”