इंडिया टूडे के पत्रकार का वीडियो जारी कर बीजेपी ने बताया बंगाल हिंसा का मृतक, जर्नलिस्ट ने ट्वीट कर कहा- मैं जिंदा हूं

बीजेपी की तरफ से अभ्रो बनर्जी की तस्वीर को जारी कर कहा गया था कि ये माणिक मोइत्रा हैं जिनका सीतलकूची में हुए हिंसा में निधन हो गया।

BJP,Bengal,India today

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद हुए हिंसा में कई लोग मारे गए। बीजेपी हिंसा को लेकर जहां टीएमसी पर हमलावर है वहीं मृतक के गलत फोटो जारी करने को लेकर अब बीजेपी भी फंसती हुई दिख रही है। बीजेपी के बंगाल IT सेल की तरफ से एक वीडियो जारी किया गया जिसमें मृतक के रूप में जिसका फोटो लगाया गया वो इंडिया टूडे में काम करने वाले अभ्रो बनर्जी थे। अभ्रो बनर्जी को जब इसकी सूचना मिली तो उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं अभी जिंदा हूं।

बीजेपी की तरफ से अभ्रो बनर्जी की तस्वीर को जारी कर कहा गया था कि ये माणिक मोइत्रा हैं जिनका सीतलकूची में हुए हिंसा में निधन हो गया। आजतक चैनल पर जब बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा से इसके बारे में सवाल किये गए तो उन्होंने कहा कि गलती से पत्रकार की तस्वीर लग गयी। साथ ही जब अभ्रो बनर्जी के तरफ से संबित पात्रा से सवाल किया जाने लगा कि यहां पीड़ित की जगह अगर मेरा फोटो आरोपी के रूप में लगा दिया जाता तो मैं क्या करता? संबित पात्रा ने जवाब देते हुए कहा कि टीएमसी के कार्यकर्ता की तरह व्यवहार न करें।

बताते चलें कि बंगाल हिंसा के बाद बीजेपी की तरफ से नौ लोगों की लिस्ट जारी की गयी थी जिसमें एक मृतक माणिक मोइत्रा के बदले अभ्रो बनर्जी की तस्वीर जारी की गयी। गौरतलब है कि अभी तक किसी भी तस्वीर की पहचान माणिक मोइत्रा के रूप में नहीं हुई है। विवाद बढ़ने के बाद बीजेपी की तरफ से वीडियो को हटा लिया गया। लेकिन इससे पहले हजारों लोगों ने उस वीडियो को देख लिया था।

आजतक पर पत्रकार अभ्रो बनर्जी ने कहा कि आज सुबह उन्होंने देखा कि उनके फोन में 100 से अधिक मिस कॉल हैं। उनके दोस्त ने उन्हें बताया कि बीजेपी आईटी सेल ने माणिक माणिक मोइत्रा की जगह उनकी तस्वीर लगा दी है।

बताते चलें कि पश्चिम बंगाल में रविवार को हुए मतगणना के बाद राज्य के कई हिस्सों में टीएमसी और बीजेपी समर्थकों में हिंसा देखने को मिली। इस हिंसा में लगभग एक दर्जन लोग मारे गए। भारतीय जनता पार्टी ने हिंसा के विरोध में देश भर में विरोध जताया था।