इंदिरा गांधी ने अटलजी को कैद किया था, कांग्रेस साफ हो गई- फिल्ममेकर का तंज, राहुल-प्रियंका को भी घेरा

कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा- ‘कंस ने कृष्ण को कैद करने की साजिश की थी और उसका साम्राज्य ध्वस्त हो गया था।’ कांग्रेस के इस पोस्ट को देख कर फिल्ममेकर अशोक पंडित ने भी रिएक्ट किया

Feroze Gandhi, Indira Gandhi फिरोज गांधी के साथ इंदिरा गांधी (Photo- Indian Express)

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद प्रियंका गांधी छिपकर घटनास्थल के लिए रवाना हुई थीं, तो रास्ते में ही पुलिस ने उन्हें रोक कर हिरासत में ले लिया था। इस पर कांग्रेस की तरफ से मोदी सरकार को घेरते हुए एक ट्वीट किया गया। कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा- ‘कंस ने कृष्ण को कैद करने की साजिश की थी और उसका साम्राज्य ध्वस्त हो गया था।’

कांग्रेस के इस पोस्ट को देख कर फिल्ममेकर अशोक पंडित ने रिएक्ट किया और कहा- ‘इंदिरा गांधी ने अटलजी को क़ैद किया और गांधी नेहरू के परिवार का साम्राज्य सदा के लिए ध्वस्त हो गया!’ एक अन्य पोस्ट पर अशोक पंडित ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को भी घेरा। उन्होंने कहा- ‘तुम कब विजिट कर रहे हो अब यहां? धार्मिक झंडा हटाने को लेकर हुई हिंसा के बाद छत्तीसगढ़ के कवर्धा में तनाव, कर्फ्यू जारी-इंडिया न्यूज।’

अशोक पंडित के इस पोस्ट पर ढेरों लोगों के कमेंट सामने आने लगे। गोपाल परिहार नाम के यूजर ने कहा- ‘उस दिन क्या कहकर मुंह छिपाओगे जिस दिन पूरे देश में बंगाल वाली स्थिति होगी?’

पत्रकार अमन चोपड़ा ने कहा-‘लखीमपुर जाने से राहुल और प्रियंका को रोका जा रहा है। बदले में कांग्रेस बीजेपी नेताओं को #kawardha जाने से रोक दें। वैसे बीजेपी नेताओं को उसकी चिंता नहीं जो #kawardha में हो रहा है। बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा का कितने नेताओं ने जाकर जायज़ा लिया था, ये कोई भूला नहीं है।’ रानी नाम की एक महिला यूजर बोलीं- राहुल-प्रियंका यहां नहीं आएंगे ये तो उनका अपना ही होम स्टेट है इसलिए। पिकनिक मनाने के लिए लोग दूसरी जगह जाना ही पसंद करते हैं।

अविनाश राजपूत ने कहा- कोई मायनॉरिटी में मरने दो फिर वो क्लेम करेंगे कि ये तो आरएसएस का काम है। बता दें, लखीमपुर में हुई घटना के बाद से प्रियंका गांधी अपनी कार की पिछली सीट के नीचे छिप कर लखीमपुर के लिए रवाना हुई थीं, पकड़ी जाने पर उन्हें लंबे समय तक पुलिस ने अपनी हिरासत में रखा। वहीं छत्तीसगढ़ के कवर्धा में भी झंडा लगाने को लेकर शुरू हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया जिसके बाद वहां स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। फिलहाल कवर्धा में धारा 144 लागू है।