इस बैंक में है खाता तो ध्यान दें, घर बैठे खोल सकते हैं PPF A/c, जानें- क्या NPS से है वाकई में बेहतर?

पीपीएफ भारत सरकार द्वारा समर्थित एक जोखिम मुक्त निवेश है। पीपीएफ खाते के लिए न्यूनतम निवेश राशि 500 रुपए है।

PPF, Punjab National Bank, Utility News हिमाचल प्रदेश के शिमाल में पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के पास से गुजरते लोग। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः प्रदीप कुमार)

पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank : PNB) अपने ग्राहकों को इंटरनेट बैंकिंग सिस्टम (Internet Banking) के जरिए पीपीएफ खाता (PPF Account) खोलने की सुविधा देता है। सबसे बढ़िया बात है कि कस्टमर घर बैठे किसी भी वक्त नेट बैंकिंग पर लॉगइन कर पीपीएफ खाता खुलवा सकते हैं। बैंक ने इसके लिए कुछ वक्त पहले ई-पीपीएफ (e-PPF) लॉन्च किया था।

IBS यानी इंटरनेट बैंकिंग सिस्टम इस्तेमाल करने वाले अपने आईडी और पासवर्ड के जरिए लॉग इन कर सकते हैं। उन्हें इसके बाद ‘माई शॉर्ट कट’ फिर ‘पीपीएफ अकाउंट’ और उसके बाद ‘ओपन ए पीपीएफ अकाउंट’ के विकल्प पर जाना होगा।

आगे ड्रॉप मीन्यू में उन्हें बताना होगा कि वह किसके लिए खाता चाहते हैं। अपने लिए (Self A/C) या फिर किसी नाबालिग के लिए (Minor A/C)। अब पीपीएफ खाता खोलने के लिए डिटेल्स भर लें और ड्रॉप मीन्यू से ऑथराइज बैंक शाखा का नाम चुन लें, जहां से आप अपना पीपीएफ खाता खुलवाना चाहते हों। फिर सब्मिट बटन दबा दें।

अब आपके सामने रिक्वेस्ट कन्फर्मेशन स्क्रीन सामने आ जाएगी। ट्रांसैक्शन पासवर्ड डालकर आगे बढ़ें। यह काम करने के बाद आपके पास ‘साइबर रीसिप्ट’ आएगी, जिस पर जीबीएम रेफरेंस नंबर होगा। आप इस अकाउंट ओपनिंग फॉर्म की पीडीएफ फाइल को डाउनलोड कर लें या फिर उसका प्रिंट ले लें। उस पर फोटो चिपकाएं और केवाई डॉक्यूमेंट्स संलग्न कर ऑथराइज पीपीएफ ब्रांच (जो आपने ड्रॉप मीन्यू में जाकर चुना हो) को पहुंचा दें।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पीपीएफ और एनपीएस दोनों स्वैच्छिक योगदान विकल्प हैं। जब पीपीएफ या एनपीएस में से किसी एक को चुनने की बात आती है, तो लोग भ्रमित हो जाते हैं कि कौन उन्हें अधिक आयकर छूट देगा। आम तौर पर लोग एनपीएस में निवेश करते हैं, क्योंकि धारा 80C के तहत उनकी PPF की 1.5 लाख रुपये की सीमा समाप्त हो जाती है।”

अगर कोई इन्वेस्टर इक्विटी और इक्विटी में 50:50 एक्सपोजर रखते हुए पीपीएफ के बजाय एनपीएस को चुनता है तो वह लगभग 2.9 फीसदी अधिक रिटर्न की उम्मीद कर सकता है। बता दें कि कोई भी भारतीय नागरिक पीपीएफ में निवेश कर सकता है। एक नागरिक के पास केवल एक पीपीएफ खाता हो सकता है, जब तक कि दूसरा खाता नाबालिग के नाम पर न हो। एनआरआई और एचयूएफ पीपीएफ खाता खोलने के पात्र नहीं हैं।