इस शेयर ने 21 साल में एक लाख के बना दिए 4 करोड़ रुपए, जानिए कैसे

फार्मास्‍यूटिकल कंपनी ल्‍यूपिन लिमिटेड बीते 21 साल में निवेशकों की जबरदस्‍त कमाई कराई है। जनवरी 1999 में कंपनी का शेयर 2.33 रुपए था जो मौजूदा समय में 970 रुपए से ज्‍यादा हो चुका है। तब से अब तक कंपनी ने शेयर में 41500 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी देखने को मिल चुकी है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

कोरोना काल में फार्मा कंपन‍ियों का ज्‍यादा बोलबाला देखने को मिला है। निवेशकों ने इन कंपनियों के स्‍टॉक्‍स में निवेश कर जमकर रुपया कमाया है। आज ऐसे ही स्‍टॉक की बात कर रहे हैं, जिसने 21 साल में निवेशकों को करोड़पति बनाने में कोई कसर नहीं छोडी है। इस स्‍टॉक का नाम है ल्‍यूपिन लिमिटिड, जो एक फार्मा कंपनी है। 1999 से अब तक कंपनी के शेयर में 41500 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी देखने को मिल चुकी है। यानी जिसने भी 21 साल पहले इस शेयर में एक लाख रुपए का निवेश किया होगा, उसकी वैल्‍यू 4 करोड़ रुपए से ज्‍यादा हो चुकी होगी। आइए आंकड़ों से समझने का प्रयास करते हैं कि आख‍िर इस स्‍टॉक ने निवेशकों को किस तरह से कमाई कराई है।

21 साल में 41500 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न : भले ही शेयर बाजार आज बंद हो और एक दिन पहले कंपनी का शेयर गिरावट के साथ बंद हुआ हो, लेकिन 21 सालों में निवेशकों को कमाई कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। ल्‍यूपिन के शेयर ने जवनरी 1999 से अब तक 41569.53 फीसदी का इजाफा देखने को मिल चुका है। जवनरी 1999 में कंपनी का शेयर 2.33 रुपए पर था। जोकि बुधवार को नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर 970.90 रुपए पर आकर बंद हुआ। यानी इस दौरान कंपनी के शेयर ने करीब 417 गुना का रिटर्न दिया है।

एक लाख के बन गए 4 करोड़ रुपए से ज्‍यादा : अगर किसी ने 2.33 रुपए के हिसाब से एक लाख रुपए का निवेश किया होता तो उसे 42918 शेयर मिलते। जिनकी वैल्‍यू 970.90 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से 4.16 करोड़ रुपए हो गई होती। अगर यही निवेश 10 हजार रुपए का होता हो उसकी वैल्‍यू आज के समय में 41.60 लाख रुपए से ज्‍यादा हो गई होती।

6 साल पहले 2000 से ज्‍यादा कंपनी का शेयर : कंपनी शेयर प्राइस की हिस्‍ट्री में झांककर देखें तो करीब 6 सालों में 50 फीसदी से ज्‍यादा की गिरावट देखने को मिल चुकी है। अक्‍टूबर 2015 में कंपनी का शेयर 2050 रुपए पर पहुंच गया था। जबकि‍ एक साल पहले कंपनी का 855.35 रुपए रुपए पर था। एक साल में भी कंपनी के शेयर में कोई खास तेजी देखने को नहीं मिली है, लेकिन लांग टर्म में निवेश करने इंवेस्‍टर्स को काफी फायदा पहुंचाया है।