उज्जैन में लगे पाकिस्तान समर्थक नारे, सीएम शिवराज बोले- तालिबानी मानसिकता बर्दाश्त नहीं, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने दिग्विजय सिंह को घेरा

उज्जैन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने के आरोप में 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा है।

vd sharma digvijay singh दिग्विजय सिंह और वीडी शर्मा ( फोटो- express file photo & @vdsharmabjp)

मध्यप्रदेश के उज्जैन में तालिबान के समर्थन में और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने का वीडियो वायरल हो रहा है। जिसके बाद प्रदेश की राजनीति में उबाल आ गया है।

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि हमने इस पर सख्त ऐक्शन लेते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया है। यहां कुछ लोगों को छोड़कर बाकी सभी देशभक्त हैं। तालिबानी मानसिकता को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। तालिबान का समर्थन करने वालों को कुचल दिया जाएगा।

दरअसल गुरुवार रात को उज्जैन के जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में लोग पर्व मनाने के लिए इकट्ठा हुए थे। जहां पर कुछ असमाजिक तत्वों ने कथित रूप से देश विरोधी नारे लगाए। यहां तालिबान जिंदाबाद का भी नारा लगाया गया। इस घटना का वीडियो तुरंत सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। पुलिस इलाके में पहले से ही मुस्तैद थी। जैसे ही नारे और वीडियो की जानकारी उसे मिली तुरंत कार्रवाई करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

इस घटना पर जब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा से प्रतिक्रियां मांगी गई तो उन्होंने इस मामले में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को निशाने पर ले लिया। उन्होंने कहा कि उज्जैन घटना की जांच की जाएगी। प्रदेश सरकार किसी भी तालिबानी मानसिकता वाले को नहीं बख्शेगी।

वी डी शर्मा ट्वीट कर कहा- “दिग्विजय सिंह जैसे लोग आतंकवादियों को सम्मान देते हैं और सर्जिकल स्ट्राईक पर भारतीय सेना से सवाल करते हैं। असल में ये तालिबानी मानसिकता का ही परिचायक है। मध्यप्रदेश की धरती पर तालिबान का समर्थन करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, सब जेल की हवा खाएंगे।”

अतिरिक्त एसपी अमरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा-“अब तक 10 व्यक्तियों (20 से 25 वर्ष की आयु के बीच) पर धारा 124ए (देशद्रोह) और 153बी (राष्ट्रीय एकता के लिए अभियोग, अभिकथन पूर्वाग्रह) के तहत मामला दर्ज किया गया है। 10 में से केवल छह को गिरफ्तार किया गया है। हम अन्य लोगों की पहचान करने की प्रक्रिया में हैं जो घटना में शामिल हो सकते हैं”।

फिलहाल पुलिस और लोगों की पहचान करने में जुटी है जो इस घटना में शामिल थे।