उज्ज्वला य़ोजना के बारे में बता रहे थे केंद्रीय मंत्री, पत्रकारों ने पूछा पेट्रोल-गैस की बढ़ती कीमतों पर सवाल तो बोले- छोड़ो यार

पेट्रोलियम मंत्री एक प्रोग्राम में उज्जवला योजना के बारे में बोलते दिखे। पत्रकारों ने जब उनसे तेल की कीमतों को लेकर सवाल पूछा तो बोले- छोड़ो यार और वहां से निकल लिए। उनके रवैये से मीडिया कर्मी भी हतप्रभ थे।

Petrol Price, Hardeep Puri, India News देश में शनिवार को पेट्रोल के दाम में घरेलू स्तर पर 30 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के साथ देश के अन्य हिस्सों में इससे दाम नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए। (फोटोः एक्सप्रेस आर्काइव)

डीजल, पेट्रोल व गैस की बढ़ती कीमतों से आम आदमी बुरी तरह से परेशान है, लेकिन सरकार दाम कम करने पर कोई ध्यान नहीं दे रही। पेट्रोलियम मंत्री एक प्रोग्राम में उज्जवला योजना के बारे में बोलते दिखे। पत्रकारों ने जब उनसे तेल की कीमतों को लेकर सवाल पूछा तो बोले- छोड़ो यार और वहां से निकल लिए। उनके रवैये से मीडिया कर्मी भी हतप्रभ थे।

तेल की कीमतें आसमान छू रही हैं। सरकार का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी के कारण पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में आज भी पेट्रोल 101.34 रुपये प्रति लीटर और डीजल 88.77 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। मुंबई में पेट्रोल 107.39 रुपये प्रति लीटर और डीजल 96.33 रुपये प्रति लीटर है। चेन्नई में पेट्रोल 99.08 रुपये और डीजल 93.38 रुपये प्रति लीटर है।

गौरतलब है कि भारतीय विदेश सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी हरदीप सिंह पुरी को राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री के तौर पर प्रमोट किया गया था। पुरी इस समय भाजपा के राज्यसभा सदस्य हैं। उनके मंत्री बनने के बाद से माना जा रहा था कि तेल की कीमतों को लेकर वह कोई कारगर कदम उठाएंगे, लेकिन फिलहाल उनका रवैया देखकर नहीं लगता कि सरकार आम आदमी को राहत देने के बारे में सोतच भी रही है।

उधऱ, सोशल मीडिया पर यूजर्स ने बीजेपी मंत्री के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। राजीव रंजन ने लिखा- बीजेपी वालों से सवाल नही पूछ सकते हैं। यही सच्चाई है। सवाल से भारतीय जनता पार्टी के लोग डरते हैं। नाकाम पार्टी है बीजेपी। सिर्फ और सिर्फ धर्म के नाम पर भारत को टुकड़े कर रही है। मनोज कुमार ने लिखा- जनता डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस सिलेंडर के मंहगाई से त्राहि त्राहि कर रही है और माननीय मंत्री महोदय सरकार की उपलब्धियों की बखान कर रहे हैं। पत्रकार के एक प्रश्न का भी सामना नहीं कर पाए।

एक यूजर ने लिखा- बीजेपी ने कभी प्रश्नों के उत्तर भी दिए हैं। पर लोग 2024 में जरूर देंगे। केसरवानी के हैंडल से ट्वीट किया गया- आपका पसंदीदा नेता जान पड़ता है, पेट्रोल गैस के दाम पूछने पर “छोड़ो यार”, इनसे 70 साल पहले की कहानी पूछते तो जवाब देते। नानक चंद ने लिखा- छोड़ो न यार, कौन सी जनता सड़क पर है, इसके विरोध में? रबिस राय का कहना था कि पुरी साहब आगामी चुनाव में जनता यही बात मत कह दे और आपकी तरह ही धीरे से कन्नी काट ले।