उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव से पहले खाप नेताओं से जुड़ेगी बीजेपी, बनाया ये प्लान

भारतीय जनता पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खाप नेताओं तक पहुंच बनाने के लिए भरपूर कोशिश कर रही है।

BJP generic

भारतीय जनता पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खाप नेताओं तक पहुंच बनाने के लिए भरपूर कोशिश कर रही है। क्षेत्र के जाट नेताओं द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ मोर्चो खोलने के बाद पार्टी द्वारा इस तरह की कोशिशें की जा रही हैं। गौरतलब है कि इस क्षेत्र में आम चुनाव हों या फिर विधानसभा चुनाव पार्टी को बीते कुछ समय में कामयाबी हाथ लगती आई है। ऐसे में पार्टी अपने वोटरों को हाथ से जाने देना नहीं चाहती है।

केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान ने बुधवार को अपने घर पर जाट नेताओं से मुलाकात के बाद कहा कि हम क्षेत्र में नेताओं से मुलाकात करेंगे। साथ ही उनके क्या मुद्दे हैं उनसे ही सुनेंगे। ये फैसला ऐसे वक्त में लिया गया है जब हाल ही में बीजेपी नेताओं अमित शाह और जेपी नड्डा ने यूपी, हरियाणा और राजस्थान के पार्टी के जाट नेताओं से मुलाकात की थी।

संजीव बाल्यान द्वारा बुलाई गई बैठक में बुधवार को 20 जाट नेता और राज्य सरकार के मंत्री और पार्टी विधायक शामिल रहे। यही नहीं पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह भी मीटिंग में मौजूद रहे। केंद्रीय मंत्री बाल्यान ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों का पश्चिमी यूपी के किसानों से लेना देना नहीं है। बाल्यान ने कहा कि हमारे यहां एपीएमसी नहीं है यहां तो सिर्फ गुड़ मंडी है।

उन्होंने कहा कि यहां के किसान तो पहले से ही सुगर मिल के साथ गन्ने की कॉन्ट्रैक्ट खेती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी के विधायक, सांसद और मंत्री किसानों से बिजली और गन्ने के बकाया भुगतान को लेकर बात करेंगे। साथ ही किसानों की क्या समस्याएं हैं, ये केंद्रीय नेतृत्व को बताने का काम करेंगे।

गौरतलब है कि क्षेत्र में किसानों द्वारा बुलाई जा रही महापंचायत ने पार्टी की चिंताएं बढ़ा दी हैं। जाट समुदाय से बड़ी संख्या में लोग इन पंचायतों में जा रहे हैं। दूसरे समुदायों की पंचायत भी किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रही हैं।

बाल्यान ने कहा कि खाप नेता हमारे भी नेता हैं। हम उनसे मुलाकात करेंगे उन्हें मनाने की कोशिश करेंगे। बता दें कि पार्टी ने सभी नेताओं को कहा है कि वे अपने क्षेत्र में जाएं और लोगों को कानूनों को लेकर राजी करें।