एंकर ने बंगाल हिंसा पर टीएमसी पर साधा निशाना तो बोले ममता के प्रवक्ता- बीजेपी ने भड़काई हिंसा, आग से खेलोगे तो हाथ जलेगा ही

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि उन क्षेत्रों में हिंसा और झड़पें हो रही हैं जहां भाजपा ने चुनाव जीता है।

bjp, bengal

आज तक पर डिबेट के दौरान एंकर ने टीएमसी के प्रवक्ता रिजु दत्ता से कहा कि आप लोगों को जनता ने बहुमत दे दिया है। फिर राज्य में ये हिंसा क्यों हो रही है? इसका जवाब देते हुए प्रवक्ता ने कहा कि ये एक दिन की बात नहीं है। प्रवक्ता कहने लगे कि टीएमसी को इतना बड़ा बहुमत मिला है हम क्यों मारामारी करेंगे। आज जो हिंसा हो रही है वह बीजेपी के नेताओं के भड़काऊ बयानों का नतीजा है। प्रवक्ता कहने लगे कि अगर आग के साथ खेलेंगे तो हाथ तो जलेगा ही।

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि उन क्षेत्रों में हिंसा और झड़पें हो रही हैं जहां भाजपा ने चुनाव जीता है। राज्य सचिवालय नबन्ना में पत्रकारों से बात करते हुए बनर्जी ने कहा कि हिंसा के अधिकांश वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किए गए या तो नकली या पुराने थे। सीएम ने कहा, “मैंने देखा है कि उन क्षेत्रों में हिंसा और झड़पें हो रही हैं, जहाँ भाजपा चुनाव जीती है।” मुख्यमंत्री ने कहा कि जब ये घटनाएं हुईं, तो कानून और व्यवस्था चुनाव आयोग के अधीन थी। उन्होंने दावा किया, “पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था पिछले तीन महीनों में बिगड़ गई। कुछ छिटपुट घटनाएं हुईं और सभी वास्तविक नहीं थीं, अधिकांश फर्जी थीं। भाजपा पुराने वीडियो दिखा रही है।”

ममता बनर्जी ने कहा, “मैं सभी राजनीतिक दलों से इसे रोकने की अपील करूंगी।” उन्होंने कहा, “आप चुनावों के बाद से लोगों को प्रताड़ित कर रहे हैं और अब इसे रोकें। वरना कानून अपना काम करेगा। बंगाल शांति, विरासत की जगह है और यहां हम समाज के हर वर्ग के लोगों के साथ शांति से रहते हैं।”

मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के कुछ घंटों बाद, बनर्जी ने राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक शीर्ष-स्तरीय बैठक की, जिसमें मुख्य सचिव अल्पन बंद्योपाध्याय और गृह सचिव एचके द्विवेदी शामिल थे।

सीएम ने कहा कि सभी जिला मजिस्ट्रेट और एसपी को किसी भी उभरती स्थिति से सख्ती से निपटने के लिए कहा गया है। सीएम ममता ने कहा, “अगर किसी को किसी घटना में शामिल पाया जाता है, तो हम उससे बहुत सख्ती से निपटेंगे। हम यहां किसी भी अराजकता को बर्दाश्त नहीं करने वाले हैं।”