एक ‘रानी’ के लिए अमिताभ बच्चन ने की थी अपने ही घर में चोरी! मां के 4 आने पर किया था हाथ साफ, जानिए वजह..

अमिताभ कोठी में रानी बेतिया को देखने के इच्छुक थे। वह रानी को देखने के लिए हमेशा बेताब रहते थे पर उनकी ये ख्वाहिश कभी पूरा न हो पाई। रानी को..

Amitabh Bachchan, अमिताभ बच्चन, Amitabh Bachchan Childhood Story, Teji Bachchan,

बात उन दिनों की है जब अमिताभ बच्चन अपने माता पिता के साथ इलाहबाद  में रहते थे। उनके घर के पास ही में एक रहस्यमयी कोठी थी, जो उन्हें बहुत आकर्षित करती थी। उस कोठी के अंदर अमिताभ जाना चाहते थे। अमिताभ बच्चन जब भी इस कोठी के सामने से गुजरते थे तो उनके मन में ढेर सारे सवाल उठते थे। ये कोठी ‘रानी बेतिया’ की थी। रानी बेतिया की भव्य कोठी अमिताभ को बहुत आकर्षित करती थी।

दरअसल, अमिताभ कोठी में रानी बेतिया को देखने के इच्छुक थे। वह रानी को देखने के लिए हमेशा बेताब रहते थे। रानी को देखने के लिए एक बार अमिताभ बच्चन ने कोठी के दरबान को ‘रिश्वत’ देने की भी कोशिश की थी!

अमिताभ चाहते थे कि कैसे भी करके वह उस कोठी के अंदर पहुंच जाएं। उस कोठी का मेन दरवाजा बहुत बड़ा था। ऐसे में उन्होंने सोचा कि क्यों न दरबान को मना लिया जाए तो उनका रास्ता भी साफ हो जाएगा। जब वह दरबान से मिलने गए तो दरबान ने उनसे कहा कि पहले चवन्नी लाओ फिर जाने देंगे। तब अमिताभ ने सोचा कि वह घर से कुछ आने ले आएंगे और दरबान को देंगे जिससे कि उनकी बात बन जाएगी और वह कोठी के अंदर जा पाएंगे।

अमिताभ बच्चन और उनके दोस्तों ने उस वक्त उस रहस्यमयी कोठी और रानी बेतिया के बारे में बहुत से किस्से सुन रखे थे। ऐसे में अमिताभ मजबूर हो गए कि कैसे भी कर के वह उस कोठी में पहुंच जाएं। अब उस वक्त उनके पास पैसे तो थे नहीं। ऐसे में वह घर जाकर कमरे में खोज बीन करने लगे। जब अचानक अमिताभ ने मां तेजी बच्चन का ड्रेसिंग टेबल का दराज खोला तो उसमें कुछ पैसे खनके। जब अमिताभ बच्चन ने पैसे गिने तो वह 4 आने निकले।

अब अमिताभ तुरंत वह पैसे लेकर दरबान के पास जा पहुंचे। वहां जाकर जब उन्होंने उस दरबान को पैसे दिए तो दरबान ने पैसे तो रख लिए लेकिन कोठी के अंदर नहीं घुसने दिया। उल्टा बच्चों को डांट कर वहां से भगा दिया। अब इधर, मां तेजी बच्चन दराज में वह पैसे ढूंढ रही थीं। मां परेशान हो रही थीं कि आखिर वह पैसे गए कहां? राज कपूर की पार्टी में अमिताभ बच्चन के शानदार लिबास का राजकुमार ने ऐसे उड़ाया था मजाक

जब मां को पता चला कि पैसे अमिताभ ने दराज से लिए हैं तो उनकी शामत आ गई। मां ने अमित को गाल पर थप्पड़ दे मारा। इसके बाद अमिताभ ने अपनी गलती की माफी मांगी। मां तो बहुत नाराज थीं लेकिन तब अमिताभ बच्चन के पिता हरिवंशराय बच्चन ने छोटे से अमिताभ को समझाया कि चोरी करने वाले को नफरत से देखा जाता है। किसी भी चीज को मांगना या पूछ कर लेना चाहिए। हालांकि अमिताभ ने कभी उस रानी को तो नहीं देखा। लेकिन जीवन की एक बहुत बड़ी सीख उन्होंने इस घटना से सीख ली। जब खुद गाड़ी में बैठ अमिताभ बच्चन से धक्का लगवाते थे शत्रुघ्न सिन्हा…