एमपीः दुकानें बंद कराने गई पुलिस पर भड़का लोगों को गुस्सा, महिलाओं ने भी बरसाए पत्थर, देखें

मध्य प्रदेश के सिंगरौली में एक पुलिस टीम पर हमला किए जाने की घटना सामने आई है। पुलिस टीम यह देखने गई थी कि कोरोना के नियम और लॉकडाउन सही से लागू है कि नहीं।

madhya pradesh, lockdown

मध्य प्रदेश के सिंगरौली में एक पुलिस टीम पर हमला किए जाने की घटना सामने आई है। पुलिस टीम यह देखने गई थी कि कोरोना के नियम और लॉकडाउन सही से लागू है कि नहीं। घटना का एक वीडियो सामने आया है वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे पुलिस टीम पर ग्रामीण हमला कर देते हैं।

हैरान कर देने वाली बात यह है कि न तो इन लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग और न ही मास्क का ख्याल किया और बस पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। गौरतलब है कि यह घटना एक ऐसे वक्त में पेश आई है जब मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और राज्य में लॉकडाउन लगा हुआ है सरकार ने सख्त हिदायत दी है कि चीजों को बंद रखा जाए। दरअसल पुलिस को जानकारी मिली थी कि ग्रामीणों ने सब्जी बाजार लगाया है जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची थी और बाजार हटाना चाहती थी लेकिन यह सब देख ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। यहां तक कि ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। घटना में पुलिस वालों के घायल होने की जानकारी भी सामने आई है।

हमलावर भीड़ की बात की जाए तो इसमें ज्यादातर सब्जी बेचने वाले छोटे दुकानदार थे। पुलिस ने जब बाजार को हटाना चाहा तो लोगों की पुलिस से बहस हो गई। जिसके बाद मामला इतना बढ़ गया कि पथराव शुरू हो गया।

बता दें कि मध्य प्रदेश में 15 मई तक लॉकडाउन लगा हुआ है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि ‘कोरोना कर्फ्यू’ बिना किसी ढिलाई के लागू किया जाए।

सीएम ने कहा, “मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप 15 मई तक सभी गतिविधियों को रोक दें। जनता कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करना चाहिए। मैं चाहता हूं कि आने वाले दिनों में सामान्य जीवन फिर से शुरू हो। यही वजह है कि हमें कुछ दिनों के लिए कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।”

उन्होंने आगे कहा कि लोगों को शादी की योजना को स्थगित करने के लिए कहा जाए क्योंकि इस तरह की सभाएं सुपर-स्प्रेडर्स साबित हो सकती हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी जिलों में सभाओं को कम करने के उपायों की समीक्षा की जानी चाहिए और मई के महीने में शादियों की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।