एमपी में बिजली कंपनी के कार्टून पर विवाद, हिंदुओं की भावनाओं का मजाक उड़ाने का लगा आरोप

कार्टून में चित्रगुप्त यह कहते हुए दिखाए गए हैं कि बिजली चोरी करने वालों को नर्क में 440 वोल्ट का करंट लगाया जाएगा। कार्टून में यमराज चित्रगुप्त से पूछते हैं चित्रगुप्त इतनी बड़ी लिस्ट किसकी है। इस पर चित्रगुप्त का जवाब है कि बिजली चोरी करने वालों की, इन्हें नर्क में 440 वोल्ट का करंट दिया जाएगा।

madhya pradesh, power company, hindu मध्यप्रदेश में मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी के कार्टून पर विवाद (प्रतीकात्मक तस्वीर, इंडियन एक्सप्रेस)

मध्यप्रदेश में बिजली चोरी रोकने के लिए मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी द्वारा बनाया गया एक कार्टून विवादों में है। इस कार्टून में यमराज और चित्रगुप्त के बीच बताए गए संवाद को लेकर कयस्थ समाज की तरफ से आपत्ति दर्ज करवायी जा रही है। साथ ही कई हिंदू संगठनों की तरफ से कार्टून को देवी-देवताओं का अपमान बताया जा रहा है।

कार्टून में चित्रगुप्त यह कहते हुए दिखाए गए हैं कि बिजली चोरी करने वालों को नर्क में 440 वोल्ट का करंट लगाया जाएगा। कार्टून में यमराज चित्रगुप्त से पूछते हैं चित्रगुप्त इतनी बड़ी लिस्ट किसकी है। इस पर चित्रगुप्त का जवाब है कि बिजली चोरी करने वालों की, इन्हें नर्क में 440 वोल्ट का करंट दिया जाएगा।

कार्टून को लेकर जारी विवाद में अब चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग की भी एंट्री हो गयी है। उन्होंने कहा है कि इस तरह के कार्यों से हिंदू धर्म से जुड़े लोगों की भावनाएं आहत हुई है। देश भर में कयस्थ समाज भगवान चित्रगुप्त को अपना अराध्य मानता है। किसी सरकारी विभाग या कंपनी की तरफ से देवताओं का मजाक उड़ाना बेहद आपत्तिजनक और निंदनीय है। जिन अधिकारियों की सहमति से यह कार्टून फेसबुक पेज पर शेयर किया गया उनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए। जिससे भविष्य में ऐसी घटनाएं नहीं हो।

कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी बिजली कंपनी के कार्टून पर आपत्ति जतायी गयी है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी पर आपत्ति जतायी है। उन्होंने कहा कि इसे तत्काल हटाया जाना चाहिए और दोषियों पर कार्रवायी होनी चाहिए। पूरे मामले को लेकर सरकार की तरफ से भी कड़े कदम उठाए जाने के संकेत हैं। बताया जा रहा है कि प्रदेश के उर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी के एमडी के प्रति नाराजगी जतायी है और कंपनी को तत्काल कार्टून हटाने का निर्देश दिया है।