एलआईसी की यह पॉलिसी जिंदगीभर कराएगी कमाई, जानि‍ए किस तरह के मिलेंगे फायदे

एलआईसी के जीवन शांति प्लान को ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। प्लान को ऑनलाइन खरीदने के लिए एलआईसी की वेबसाइट www.licindia.in पर लॉग इन करना होगा।

lic Policy एलआईसी जीवन शांत‍ि पॉलिसी को ऑनलाइन खरीदने के लिए एलआईसी की वेबसाइट www.licindia.in पर लॉग-इन करना होगा। (Photo By Indian Express Archive)

एलआईसी कई इंश्योरेंस, पेंशन योजनाएं प्रोवाइड कराता है। ऐसी ही एक योजना है एलआईसी का जीवन शांति योजना। यह एक एकल प्रीमियम योजना है, जिसमें पॉलिसीधारक के पास तत्काल या स्थगित एन्‍युटी चुनने का विकल्प होता है। पॉलिसी की शुरुआत में तत्काल और डेफर्ड एन्‍युटी दोनों के लिए वार्षिकी दरों की गारंटी दी जाती है और एन्‍युटीज पॉलि‍सी होल्‍डर के पूरे जीवनकाल में दी जाती है। आपको बता दें क‍ि इस प्लान को ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। प्लान को ऑनलाइन खरीदने के लिए एलआईसी की वेबसाइट http://www.licindia.in पर लॉग-इन करना होगा।

किस तरह के मिलते हैं फायदे

  • एकमुश्त निवेश करें और आजीवन आय की गारंटी प्राप्त करें।
  • जरूरत और परिस्थिति के मुताबिक नौ अलग- अलग एन्‍युटी चुनने का विकल्प मिलता है।
  • आपके पास इमिजिएट और डेफर्ड दोनों तरह की एन्‍युटी चुनने का विकल्‍प मौजूद हैं।
  • पॉलिसी की शुरुआत से ही एन्‍युटी रेट्स की गारंटी है।
  • यह पॉलिसी स्वयं के लाइफ या दादा-दादी, माता-पिता, बच्चों, पोते-पोतियों, जीवनसाथी या भाई-बहनों के साथ संयुक्त जीवन के रूप में ली जा सकती है।
  • पॉलिसी का एक वर्ष पूरा होने के बाद लोन की सुविधा उपलब्‍ध होती है।
  • पॉलिसी के पूरा होने के तीन महीने बाद किसी भी समय पॉलिसी को सरेंडर किया जा सकता है।
  • द‍िव्‍यांग आश्रित (दिव्यांगजन) जीवन के लाभ के लिए योजना लेने का ऑप्‍शन मिलता है।

फ्री लुक पीरियड
यदि पॉलिसीधारक पॉलिसी के “नियम और शर्तों” से संतुष्ट नहीं है, तो पॉलिसी प्राप्त होने की तारीख से 15 दिनों (यदि यह पॉलिसी ऑनलाइन खरीदी जाती है) के भीतर पॉलिसी कॉरपोरेशन को वापस की जा सकती है। जिसके बाद निगम पॉलिसी को रद्द कर देगा और स्टांप शुल्क और भुगतान की गई एन्‍युटी, यदि कोई है, के लिए शुल्क में कटौती के बाद भुगतान किया गया खरीद मूल्य वापस कर देगा। हालांकि, यदि पॉलिसी क्यूआरओपीएस के रूप में खरीदी गई है, तो रद्दीकरण से प्राप्त आय को केवल उस फंड हाउस में वापस ट्रांसफर कर दिया जाएगा, जहां से धन प्राप्त हुआ था।

पॉलिसी सरेंडर
पॉलिसी के पूरा होने के तीन महीने बाद (यानी पॉलिसी जारी होने की तारीख से 3 महीने) या फ्री-लुक अवधि की समाप्ति के बाद, जो भी बाद में हो, पॉलिसी को कभी भी सरेंडर किया जा सकता है।