एलन मस्‍क की पसंदीदा क्रि‍प्‍टोकरेंसीज में गिरावट, इसमें देखने को मिली जबरदस्‍त तेजी

आज बिटकॉइन और डॉगेकॉइन के मुकाबले ऑल्‍टकॉइंस की कीमत में ज्‍यादा इजाफा देखने को मिल रहा है। खासकर एआर क्रि‍प्‍टोकरेंसी में आज 45 फीसदी तक तक की तेजी देखने को मिली है।

Elon Musk And Cryptocurrencies बिटकॉइन और इथेरियम के मुकाबले बाकी छोटी क्रि‍प्‍टोकरेंसीज यानी ऑल्‍टकॉइंस में ज्‍यादा रिटर्न देखने को मिला है। (Photo By Indian Express Archive)

आज पॉपुलर क्रि‍प्‍टोकरेंसीज में गिरावट का दौर देखने को मिल रहा है। जहां बिटकॉइन लाल निशान पर है। वहीं डॉगेकॉइन में भी सुस्‍ती है। वहीं इथेरियम की कीमत में गिरावट के बाद फि‍र से तेजी का माहौल बना है। इन तीनों की खास बात यह है कि एलन मस्‍क की यह फेवरेट क्रिप्‍टोकरेंसी हैं। वहीं क्रि‍प्‍टो बाजार की दुनिया में कुछ करेंसीज ऐसी भी हैं जो आज 45 फीसदी की उछाल तक पहुंची और अभी भी अच्‍छा रिटर्न दे रही हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आख‍िर पॉपुलर क्रि‍प्‍टोकरेंसी के मुकाबले दूसरी क्रिप्‍टोकरेंसीज में कितनी तेजी देखने को मिल रही है।

मस्‍क पसंदीदा क्रिप्‍टोकरेंसीज का हाल
पहले बात एलन मस्‍क की फेवरेट क्रिप्‍टोकरेंसीज का हाल जानें तो बिटकॉइन में भारतीय कारोबार में 0.68 फीसदी की गिरावट के साथ 36.92 लाख रुपए पर कारोबार कर रही है। जबकि इथेरियम का कारोबार सुबह थोड़ा ठंडा जरूर था, लेकिन अब 5 फीसदी की तेजी पर आ गया है। जबकि डॉगेकॉइन में ढाई फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है। भारतीय करेंसी के अनुसार यह 21 डॉलर पर मौजूद है।

50 हजार डॉलर से नीचे आया बिटकॉइन
हाल ही में बिटकॉइन के दाम 50 हजार डॉलर पर आ गए थे। जिसके बाद इस साल करेंसी का रिटर्न 60 फीसदी से ऊपर पहुंच गया था। अब दोबारा से करेंसी के दाम नीचे आ गए हैं। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में क्रिप्‍टाेकरेंसी की कीमत में तेजी देखने को मिल सकती है। वैसे भी बिटकॉइन अपने ऑलटाइम हाई 65000 डॉलर से करीब करीब 20 हजार डॉलर नीचे है। यह रिकॉर्ड बिटकॉइन ने अप्रैल के दूसरे सप्‍ताह में कायम किया था।

दूसरी करेंसीज का हाल
वहीं बात दूसरी करेंसी की करें तो एआर में करीब 45 फीसदी की तेजी देखने को मिली थी जो मौजूदा समय में 35 फीसदी पर आकर करोबार कर रही है। वहीं मौजूदा समय में एफटीएम 20 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार कर रही है। एटोम में करीब 25 फीसदी का इजाफा देखने को मिल रहा है। वाईएफआईआई में 23 फीसदी की तेजी है।

ऑल्‍टकॉइन की डिमांड बढ़ी
इसका मतलब है ऑल्‍टरनेटिव कॉइन। जिनकी डिमांड तेजी के साथ बढ़ रही है। इसका कारण है बड़ी क्रिप्‍टोकरेंसी में उछाल। जिसकी वजह से निवेशक छोटी और कम कीमत वाली क्र‍िप्‍टोकरेंसी में निवेश करना ज्‍यादा पसंद कर रहे हैं। इसमें रिटर्न भी अच्‍छा देखने को मिल रहा है। वास्‍तव में रोजाना निवेश और मुनाफावसूली करने वाले निवेशकों के लिए यह ऑल्‍टकॉइन रुपया बनाने का बड़ा जरिया बन गए हैं।