एसपी ने पुलिसकर्मी को दी गाली तो उन्हीं को पत्र लिख कहा- शर्म आनी चाहिए, मेरे लिए जीने-मरने की बात

इंस्पेक्टर ने कार्रवाई नहीं होने पर एसपी के खिलाफ धरने देने की बात भी कही है। अजय सिंह ने कहा है कि अगर इस मामले में कोई उनका साथ नहीं भी देगा तो वे अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस प्रतीकात्मक फोटो)

बिहार पुलिस के स्पेशल ब्रांच के इंस्पेक्टर अजय सिंह ने अपने ही विभाग के एसपी दीपक वर्णवाल पर गाली देने का आरोप लगाया है। गाली देने के बाद इंस्पेक्टर ने एसपी को ही पत्र लिखकर कहा है कि आपके ऐसे व्यवहार पर मुझे शर्म आती है। आपके द्वारा मुझे गाली देना मेरे लिए जीने मरने की बात हो गई है। इंस्पेक्टर ने इस पत्र की कॉपी स्पेशल ब्रांच के एडीजी, डीआईजी और बिहार पुलिस एसोसिएशन को भी भेजी है।

बिहार पुलिस के इंस्पेक्टर अजय सिंह ने दीपक वर्णवाल पर गाली देने का आरोप लगाते हुए उन्हीं को पत्र लिखा है। अपने पत्र में अजय सिंह ने लिखा है कि 1 अक्टूबर को सुबह 9 बजे के करीब मैं आपके कार्यालय में आया। जहां आपने कुछ कागजात देखकर मुझे गाली दी जो बेहद ही शर्मनाक है। मैं 59 वर्षीय पुलिस इंस्पेक्टर हूं, जिसे गाली देते समय आपको शर्म आनी चाहिए।

इंस्पेक्टर अजय सिंह ने अपने पत्र में यह भी लिखा कि गाली देने के बाद आप चिल्लाने लगे लेकिन मैंने प्रतिरोध नहीं किया। आपके द्वारा मुझे गाली दिया जाना मेरे लिए जीने मरने की बात हो गई है। मैंने इसकी सूचना अपने परिवार के लोगों को भी दी है। साथ ही अजय सिंह ने लिखा कि अंग्रेजों के जमाने में भी कोई अधिकारी बच्चे या बुजुर्ग को गाली नहीं देता होगा लेकिन आपने हद कर दी। मुझे शर्म है आपके व्यवहार पर। आप पहले भी मेरे एवं अन्य लोगों के साथ ऐसा व्यवहार कर चुके हैं। इंस्पेक्टर ने एसपी के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई की मांग की है।

अपने पत्र में इंस्पेक्टर ने कार्रवाई नहीं होने पर एसपी के खिलाफ धरने देने की बात भी कही है। अजय सिंह ने कहा है कि अगर इस मामले में कोई उनका साथ नहीं भी देगा तो वे अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। साथ ही उन्होंने कहा है कि अगर पुलिस मुख्यालय भी उनके आवेदन पर कार्रवाई नहीं करेगा तो वे स्पेशल ब्रांच के एसपी दीपक वर्णवाल के खिलाफ धरना देंगे। इंस्पेक्टर ने अपने आवेदन की कॉपी बिहार पुलिस के वरीय अधिकारियों समेत बिहार पुलिस एसोसिएशन को भी भेजी है।

वहीं बिहार पुलिस एसोसिएशन ने भी एसपी दीपक वर्णवाल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने कहा कि पुलिस विभाग में अनुशासन ही सर्वोपरि होता है। ड्यूटी के दौरान सिपाही से लेकर डीजीपी तक सभी मर्यादित आचरण का पालन करते हैं और जो कोई भी अमर्यादित शब्दों का प्रयोग करता है उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। इसलिए सरकार को तत्काल एसपी के खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए। साथ ही बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री को भी आवेदन लिखा जाएगा और कार्रवाई करने की मांग की जाएगी।