ओमिक्रॉन का खौफ: केंद्र पर भ़ड़के अरविंद केजरीवाल, कहा- अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानें बंद करने में देरी क्यों? पहली वेव में भी हुई थी यही गलती

सरकार ने एहतियातन तौर पर दक्षिण अफ्रीका समेत कई देशों को जोखिम वाले देशों की लिस्ट में शामिल किया है। इनमें बांग्लादेश, मॉरीशस, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, न्यूजीलैंड, ब्राजील, ब्रिटेन, सिंगापुर, हांगकांग और इजरायल भी शामिल हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद करने की मांग की है। (फोटो: एपी)

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन का खौफ भारत में भी है। इन्हीं वजहों से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद करने की मांग उठाई है। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद करने में हो रही देरी को लेकर अरविंद केजरीवाल मोदी सरकार पर भड़क उठे और कहा कि इसे करने में देरी क्यों की जा रही है, पहली वेव में भी यही गलती हुई थी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एएनआई की एक खबर को ट्विटर पर शेयर करते हुए प्रधानमंत्री मोदी से तत्काल अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद करने की मांग की। शेयर किए गए ट्वीट में हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से चंडीगढ़ लौटे एक शख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने की खबर थी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसी खबर को रीट्वीट करते हुए लिखा कि कई देशों ने ओमिक्रोन प्रभावित देशों से आने वाली उड़ानें बंद कर दी हैं। हम देरी क्यों कर रहे हैं? पहली वेव में भी हमने विदेशी उड़ानें रोकने में देरी कर दी थी। अधिकतर विदेशी उड़ानें दिल्ली में आती हैं, दिल्ली सबसे ज्यादा प्रभावित होती है। PM साहिब कृपया उड़ानें तुरंत बंद करें।

हालांकि केंद्र सरकार ने भी 15 दिसंबर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन हटाने के अपने फैसले की समीक्षा करने का निर्णय लिया है। साथ ही इंटरनेशनल फ्लाइट से आने वाले यात्रियों की निगरानी और कोरोना के लिहाज से जोखिम वाले देशों से आने वाले यात्रियों की कड़ी स्क्रीनिंग और टेस्टिंग के आदेश भी दिए हैं। इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन की समीक्षा होने की वजह से फिलहाल सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें चालू नहीं हो सकेंगी।

कोरोना वेरिएंट ओमिक्रोन का पहला मामला मिलने वाले दक्षिण अफ्रीका के भी फ्लाइट्स पर केंद्र सरकार ने रोक नहीं लगाई है। लेकिन सरकार ने एहतियातन तौर पर दक्षिण अफ्रीका समेत कई देशों को जोखिम वाले देशों की लिस्ट में शामिल किया है। इनमें बांग्लादेश, मॉरीशस, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, न्यूजीलैंड, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, ब्रिटेन, सिंगापुर, हांगकांग और इजरायल शामिल हैं। इन देशों से आने वाली यात्रियों की टेस्टिंग अनिवार्य रूप से करने को कहा गया है।

नए कोरोना दिशा निर्देशों के अनुसार दिल्ली स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर होंगे सभी जरूरी इंतजाम

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण के नए स्वरूप वेरिएंट के कारण चिंता बढ़ने के बीच देश के सबसे बड़े इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे ने सोमवार को कहा कि नए दिशा-निर्देशों और यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी जरूरी इंतजाम समय पर किए जाएंगे। इसके अलावा, राष्ट्रीय राजधानी में आईजीआईए में कोविड-19 जांच करने वाली कंपनी परीक्षण करने की क्षमता में वृद्धि के साथ-साथ जल्द नतीजे प्रदान करने के लिए अपने कर्मचारियों की संख्या बढ़ाएगी। वहीं, हैदराबाद और बेंगलुरु सहित अन्य प्रमुख हवाई अड्डे भी ओमीक्रोन की चिंताओं के मद्देनजर उभरती स्थिति से निपटने के लिए प्रयासों में तेजी ला रहे हैं। सरकार ने रविवार को एक दिसंबर से प्रभावी होने वाले संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसमें जोखिम वाले देशों से यात्रा करने वाले या वहां से होकर आने वाले यात्रियों को भारत पहुंचने पर आरटी-पीसीआर जांच कराना अनिवार्य किया गया था।