करनाल लाठीचार्ज मामले पर बोले CM खट्टर, किसानों ने किया था शांतिपूर्ण प्रदर्शन का वादा लेकिन बरसाने लगे पत्थर

किसानों के ऊपर हुए लाठीचार्ज के बाद कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने हरियाणा की खट्टर सरकार पर जमकर हमला बोला। इतना ही नहीं भाजपा नेता और मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने भी किसानों के ऊपर हुए  लाठीचार्ज को लेकर हरियाणा सरकार पर निशाना साधा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने करनाल में हुए लाठीचार्ज मामले को लेकर कहा कि किसानों ने पुलिस के ऊपर पथराव किए। जिसके बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की। (एक्सप्रेस फोटो)

शनिवार को करनाल में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के मामले में चौतरफा आलोचनाओं का सामना करने के बावजूद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पुलिसिया कार्रवाई का बचाव करते हुए कहा कि किसानों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन का दावा किया था। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने पुलिसकर्मियों के ऊपर पथराव किया और सड़कों को जाम कर दिया।

मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि किसानों ने पहले शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का वादा किया था। अगर वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते तो इससे किसी को आपत्ति नहीं होती। लेकिन अगर पुलिस पर पथराव करेंगे और राजमार्ग अवरुद्ध करेंगे तो पुलिस कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कदम तो उठाएगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि यह पार्टी की राज्य स्तर की बैठक थी और मैं किसान संगठनों द्वारा इसका विरोध करने के लिए किए गए आह्वान की निंदा करता हूं। किसी भी संगठन के कार्यक्रम का किसी मुद्दे पर या किसी भी कारणवश से विरोध करना तो खुद में ही अलोकतांत्रिक है। 

बता दें कि शनिवार को करनाल में बीजेपी के राज्य स्तर की बैठक रखी गई थी। इसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी शामिल हुए थे। किसानों ने एक दिन पहले ही इस बैठक का विरोध करने का ऐलान किया था। किसान इसके लिए करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर इकट्ठा भी हुए थे। बाद में प्रदर्शनकारी किसान जब कार्यक्रम स्थल की तरफ बढ़ने लगे तो वहां तैनात पुलिस बल ने लाठीचार्ज कर दिया। जिसमें कई किसानों को गंभीर चोटें आई। 

किसानों के ऊपर हुए लाठीचार्ज के बाद कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने हरियाणा की खट्टर सरकार पर जमकर हमला बोला। इतना ही नहीं भाजपा नेता और मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने भी किसानों के ऊपर हुए  लाठीचार्ज को लेकर हरियाणा सरकार पर निशाना साधा। सत्यपाल मलिक ने कहा कि इसमें दोषी पाए जाने वाले अफसर पर तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए और मुख्यमंत्री को किसानों से माफ़ी मांगनी चाहिए।

करनाल में हुए लाठीचार्ज पर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि लोकतंत्र लाठी और गोली से नहीं चलाया जा सकता। सरकार लोगों का दिल जीतने से चलती है। समस्या का समाधान बातचीत से निकलता है। बातचीत से समाधान निकालना चाहिए। लाठी चलाने से आवाज नहीं दबती है। (भाषा इनपुट के साथ)