कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन के दौरान तिरंगा के ऊपर नजर आया BJP का झंडा, पूछने लगे कांग्रेसी- क्या यह ठीक है?

कल्याण सिंह का शनिवार को निधन हो गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को लखनऊ पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा, “प्रभु श्री राम कल्याण सिंह जी को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिवार को इस दु:ख को सहन करने की शक्ति दें।

Kalyan Singh, Yogi Adityanath, BJP, Congress कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस तस्वीर को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं (फोटो- ट्विटर- @myogiadityanath)

देश भर से लोग उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख नेताओं में शुमार किए जाने वाले कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन करने के लिए उत्तर प्रदेश पहुंच रहे हैं। इधर एक तस्वीर पर कांग्रेस पार्टी की तरफ से सवाल खड़े किए गए हैं, तस्वीर में देखा जा सकता है कि राष्ट्र ध्वज के ऊपर भारतीय जनता पार्टी के झंडे को रखा गया है।

कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने तस्वीर को ट्वीट कर लिखा कि क्या यह सही है? न्यू इंडिया में भारतीय ध्वज के ऊपर पार्टी का झंडा लगाना? उनके ट्वीट के बाद से सोशल मीडिया में लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है। अश्विनी बगरी नाम के एक यूजर (@Ashwanibagri8) ने लिखा कि इन पर केस होना चाहिए। तिरंगे के ऊपर भाजपा का झंडा कैसे हो सकता है ? संविधान में कानून सबके लिए एक होते है। फिर भाजपाई के लिए क्यो नही? श्रद्धा कुमारी नाम के एक अन्य यूजर ने लिखा कि यहा भी अपने झंडे का प्रचार, कोई मौका नही चूकते, अपना प्रचार करने का।

बताते चलें कि कल्याण सिंह का शनिवार को निधन हो गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को लखनऊ पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा, “प्रभु श्री राम कल्याण सिंह जी को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिवार को इस दु:ख को सहन करने की शक्ति दें। यहां के मूल्यों, आदर्शों, संस्कृतियों और परंपराओं में विश्वास करने वाले हर दु:खी जन को प्रभु राम ढांढस दें, मैं यही प्रार्थना करता हूं।” रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और बसपा (बहुजन समाज पार्टी) प्रमुख मायावती ने भी कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की।

पूर्व मुख्यमंत्री के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए लोक भवन और प्रदेश भाजपा कार्यालय में भी रखा जाएगा। उसके बाद उसे अलीगढ़ ले जाया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कल्याण सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुये प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। उन्होंने 23 अगस्त को एक दिन का सार्वजनिक अवकाश की भी घोषणा की हैं। सिंह का अंतिम संस्कार 23 अगस्त को नरौरा में गंगा तट पर किया जायेगा। कल्याण सिंह राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख नेताओं में शुमार थे और छह दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने के वक्त उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। इस घटना के बाद सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।