कल तक नसीरुद्दीन शाह-आमिर खान कहते थे भारत में डर लग रहा है- तालिबान का नाम लेकर कांग्रेस नेता पर भड़क गए अमिश देवगन

कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम शो पर कहने लगे कि ‘शरण देना ग्रंथ सिखाता है, लेकिन तालिबान जितना अफ़ग़ानिस्तान में नहीं चल रहा उतना हिंदुस्तान में चल रहा है।

Amish Devgan, अमिश देवगन, Amish Devgan Furious Over Naseeruddin Shah, Naseeruddin Shah, Aamir Khan, एक्टर नसीरुद्दीन शाह और आमिर खान (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

अमिश देवगन न्यूज 18 इंडिया की लाइव डिबेट में उस वक्त बुरी तरह से भड़क गए जब कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अफगानी मुसलमानों को भी देश में पनाह दी जानी चाहिए। इस पर अमिश देवगन का गुस्सा फूट पड़ा। अमिश देवगन डिबेट में नसीरुद्दीन शाह और आमिर खान जैसे स्टार्स का नाम लेकर कहने लगे कि कल तक तो भारत देश मुसलमानों के लिए असुरक्षित था, लेकिन आज ऐसा नहीं है?

कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम शो पर कहने लगे कि ‘शरण देना ग्रंथ सिखाता है, लेकिन तालिबान जितना अफ़ग़ानिस्तान में नहीं चल रहा उतना हिंदुस्तान में चल रहा है। हमारा भारत सारे जीवन को सुरक्षित देखना चाहता है।’ शरण देने की बात पर बीजेपी नेता BJP के सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस नेता को जवाब दिया- ‘हम दूध भी पिलाते हैं, ये हमारी परंपरा है, किंतु नाग यज्ञ विधान नहीं भूले हैं।’

अमिश देवगन ने डिबेट का वीडियो शेयर करते हुए कहा- ‘एक लॉबी थी जो कहा करती थी भारत में मुसलमान सुरक्षित नहीं है, उन्हें यहां पर डर लगता है। डर की दुकान चलाई जाती थी, देश छोड़ने की बात कही जाती थी। लेकिन अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के आते ही अब सभी को भारत सबसे सुरक्षित लगने लगा है।#Facts #CA’

अमिश देवगन बिफरते हुए कहने लगे- ‘आप तो कह रहे हैं कि अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश से भी मुसलमान लाकर यहां बैठा दो। पॉइंट तो ये है ना हिंदुस्तान के मुसलमान का तो सवाल ही नहीं है। कल तक यहां पर एक लॉबी काम करती थी जो कहती थी भारत में सबसे ज्यादा मुसलमान असुरक्षित है। नसीरुद्दीन शाह कहते थे, आमिर खान कहते थे कि मुझे तो बड़ा डर लग रहा है हिंदुस्तान के अंदर, थर थर कांप रहे हैं हम। लेकिन अब भारत सबसे अच्छा देश हो गया मुसलमानों के लिए? 52-54 मुस्लिम कंट्रीज हैं तो उनमें सबसे ज्यादा सुरक्षित भारत देश है।’

अमिश देवगन आगे बोले- ‘भारत के मुसलमान की तो बात ही नहीं है। आप कह रहे हैं कि बाकि मुसलमानों को भी लाकर यहां बसा दो। साउदी अरब क्यों नहीं लेता? ओमान क्यों नहीं लेता, सीरिया क्यों नहीं लेता? ये मुल्क आगे आएं। अफगानिस्तान में कौन मर रहा है मुसलमान, कौन मार रहा है मुसलमान।’