कांग्रेस की बैठक में चल गईं कुर्सियां, जमकर बवाल, सांसद कार्ति चिदंबरम भी थे मौजूद

घटना उस वक्‍त हुई जब दोनों कांग्रेस गुट आपस में एक लोकल चुनाव को लेकर योजना बना रहे थे। इसी बीच में किसी बात को लेकर लड़ाई शुरू हो गई। इस मारपीट के दौरान आपस में एक दूसरे के उपर कुर्सियां चली।

कांग्रेस की बैठक में चल गईं कुर्सियां, जमकर बवाल, सांसद कार्ति चिदंबरम भी थे मौजूद (Photo- ANI)

तमिलनाडु के शिवगंगा जिले में कांग्रेस पार्टी की एक बैठक में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब दो गुटों में जमकर झड़प हो गई। घटना उस वक्‍त हुई जब दोनों कांग्रेस गुट आपस में एक लोकल चुनाव को लेकर योजना बना रहे थे। इसी बीच में किसी बात को लेकर लड़ाई शुरू हो गई। इस मारपीट के दौरान आपस में एक दूसरे के ऊपर कुर्सियां चली। इस बैठक में स्‍थानी नेताओं के अलावा पार्टी कार्यकर्ता एकत्र हुए थे। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम मौजूद थे। बता दें कि शिवगंगा कार्ति चिदंबरम का लोकसभा क्षेत्र भी है।

बवाल के दौरान ये सभी घटना एक कैमरे में कैद हो गई। थोड़े देर बाद ही यह घटना सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इस वीडियो में, दो हॉल के दरवाजे के पास कुछ लोगों पर प्लास्टिक की कुर्सियों को फेंकते हुए और उनका पीछा करते हुए दिखाई दे रहे हैं। एएनआई ने बताया कि यह वीडियो स्थानीय कांग्रेस इकाई के दो गुटों के बीच लड़ाई हुई। घटना की जानकारी होते ही मौके पर पुलिस पहुंची और पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण कर लिया। साथ ही वहां पर कमरे को साफ भी करवा दिया।

12 सितंबर को सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आयाा, जिसमें पी चिदंबरम स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर पार्टी कार्यकर्ता के साथ चर्चा करते नजर आ रहे हैं। रिपोर्टों में कहा गया है कि कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता क्षेत्र में पार्टी को मजबूत करने के लिए स्थानीय पदाधिकारियों और नेताओं को बदलना चाहते हैं। बस इसी बात को लेकर बहस गहमागहमी में बदल गई। कुछ देर बाद ही फिर मारपीट की घटना तेज हो गई। हालाकि अभी तक इस मामले पर कांग्रेस के किसी भी बड़े नेता का बयान नहीं आया है।

यह भी पढ़ें: CJI ने न्याय व्यवस्था पर उठाए सवाल, बोले- आम लोगों के हिसाब से नहीं हैं कानून, दोबारा विचार की ज़रूरत

तमिलनाडु के 28 जिलों में नौ अक्टूबर को स्थानीय निकाय चुनाव होने हैं। इसे लेकर कांग्रेस से लेकर अन्‍य पार्टियां तैयारियों में जुटी हुईं हैं। निकाय चुनाव में जीत के लिए कांग्रेस के बड़े नेताओं से लेकर अन्‍य नेता भी कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे हैं।