किसानों के धरनास्थल के पास हत्या, तीन बच्चों का पिता था मृतक दिहाड़ी मजदूर, आरोपी निहंग ने किया सरेंडर

शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने आवास पर गृह मंत्री अनिल विज, गृह सचिव राजीव अरोड़ा, हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल और एडीजीपी (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को मामले की गहन जांच करने और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

सिंघु बॉर्डर पर हुए एक युवक की हत्या के मामले में पुलिस सभी पहलुओं की जांच कर रही है। (एक्सप्रेस फोटो)

शुक्रवार को दिल्ली से सटे किसानों के प्रदर्शन स्थल सिंघु बॉर्डर पर एक युवक का शव मिलने से हंगामा मच गया। मृतक की पहचान पंजाब के तरनतारन जिले के लखबीर सिंह के रूप में हुई। लखबीर दलित समुदाय का था और वह तीन बच्चों का पिता था। लखबीर की हत्या के मामले में शक की सुई निहंग सिखों के आसपास मंडरा रही है। हालांकि हत्या की जिम्मेदारी लेने वाले सरबजीत सिंह नाम के एक निहंग ने शुक्रवार देर रात को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सरबजीत सिंह ने लखबीर सिंह के हत्या की जिम्मेदारी ली है। सरबजीत सिंह को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मृतक लखबीर सिंह के गांव चीमा कलां गांव के सरपंच अवन कुमार ने बताया कि उसके मां बाप जीवित नहीं थे। इसलिए वह अपनी बहन के साथ रहता था। साथ ही गांव के लोगों के अनुसार वह आखिरी बार मंगलवार को ही अपने गांव में देखा गया था। वहीं पुलिस के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि लखबीर सिंह चीमा कलां से सिंघु जाने वाला एक मात्र व्यक्ति था।

इस मामले की जांच कर रही सोनीपत पुलिस ने लखबीर सिंह की हत्या के मामले को लेकर कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि निहंगों ने पंजाब के तरनतारन जिले के चीमा कलां गांव के एक दलित सिख 35 वर्षीय लखबीर सिंह की हत्या कर दी। क्योंकि उनलोगों को लखबीर सिंह पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने का संदेह था। हालांकि पुलिस ने यह भी कहा कि बेअदबी करने के दावे की पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है। 

वहीं शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने आवास पर गृह मंत्री अनिल विज, गृह सचिव राजीव अरोड़ा, हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल और एडीजीपी (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क के साथ बैठक की। इस मामले को लेकर हरियाणा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को मामले की गहन जांच करने और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी की पहचान कर ली है और हम जल्द ही गिरफ्तारी करेंगे।

पुलिस के अनुसार उन्हें शुक्रवार सुबह पांच बजे के करीब सूचना मिली थी कि धरना स्थल के पास एक व्यक्ति को बैरिकेड्स से बांध दिया गया है, जिसके बाद कुंडली पुलिस थाने की एक टीम मौके पर पहुंची। सोनीपत के एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने कहा कि घायल व्यक्ति को सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। हमने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। ऐसे कई वीडियो चल रहे हैं जहां कुछ निहंगों ने दावा किया है कि उस व्यक्ति ने पवित्र पुस्तक का अनादर किया। आशंका जताई जा रही है कि कुछ निहंगों ने उसे पीटा और मार डाला। यह जांच का विषय है।