किसान आंदोलन पर सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- हाईवे को हमेशा के लिए कैसे ब्लॉक कर सकते हैं?

जज ने कहा कि अगर कोर्ट इस मामले में कुछ निर्देश देती है तो ये कहा जाएगा कि न्यायपालिका ने कार्यपालिका के अधिकार क्षेत्र में अतिक्रमण किया है।

farmers movement हाईवे को ब्लॉक रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कड़ा रुख अपनाया है। (फोटो सोर्स-Express Archive)

किसान आंदोलन के दौरान हाईवे को ब्लॉक रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कड़ा रुख अपनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सड़कों को हमेशा के लिए ब्लॉक नहीं किया जा सकता है।

कोर्ट ने कहा कि किसी समस्या का समाधान न्यायिक रूप से, आंदोलन से या संसदीय बहस के माध्यम से हो सकता है लेकिन हाईवे को कैसे ब्लॉक कर सकते हैं और ये कहां खत्म होता है? 2 जजों की पीठ का नेतृत्व कर रहे न्यायमूर्ति एस के कौल ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए ये टिप्पणी की।

पीठ ने ये भी जानना चाहा है कि सरकार सड़कों पर यातायात खोलने के लिए क्या कर रही है। जस्टिस कौल ने कहा कि हमने एक कानून बनाया है लेकिन इसे कैसे लागू किया जाए यह आपका काम है। कोर्ट के पास इसे लागू करने का कोई जरिया नहीं है। इसे लागू करना कार्यपालिका का कर्तव्य है।

उन्होंने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट इस मामले में कुछ निर्देश देती है तो ये कहा जाएगा कि न्यायपालिका ने कार्यपालिका के अधिकार क्षेत्र में अतिक्रमण किया है। इस पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ को बताया कि 3 सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया था और किसानों को बात करने के लिए बुलाया गया था, लेकिन उन्होंने इसमें शामिल होने से मना कर दिया।

सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि याचिकाकर्ता को इस मामले में किसान निकायों के प्रतिनिधियों से जुड़ना चाहिए जिससे बाद में वे यह नहीं कह पाएं कि वे तो पार्टी में थे ही नहीं। इस पर पीठ ने सॉलिसिटर जनरल से कहा कि उन्हें आवेदन देना होगा क्योंकि याचिकाकर्ता किसानों का प्रतिनिधित्व करने वाले व्यक्तियों को नहीं जानता। याचिकाकर्ता को कैसे पता चलेगा कि नेता कौन हैं?

इसके बाद सॉलिसिटर जनरल ने ऐसा करने के लिए हामी भर दी है। अब इस मामले की अगली सुनवाई 4 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी गई है।बता दें कि कोर्ट नोएडा की रहने वाली मोनिका अग्रवाल की एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी। इस याचिका में मोनिका ने कहा था कि दिल्ली आने में उन्हें 20 मिनट लगते थे, लेकिन अब जो बंद चल रहा है, उसकी वजह से 2 घंटे लगते हैं।