किसान रैली में बैलगाड़ी से पहुंचे कांग्रेस नेता, बैल ने लात मारकर जमीन पर गिरा दिया

नेताजी बैलगाड़ी से उतर कर नारेबाजी कर रहे थे कि इतने में बैलगाड़ी का बैल काबू से बाहर हो गया। काबू से बाहर होने के बाद के उसने पास में नारेबाजी कर रहे नेताजी को पीछे से लात मार दी।

congress , UP , kisan sammelan

देशभर में केंद्र सरकार द्वारा पारित किये गए तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध हो रहा है। किसान संगठनों के अलावा विपक्षी राजनीतिक दल भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गए हैं। कई राजनीतिक दल अलग अलग जगहों पर किसान महापंचायत कर रहे हैं। बीते दिनों देवरिया में उत्तर प्रदेश कांग्रेस की तरफ किसान सम्मलेन बुलाया गया था। किसान सम्मलेन में बैलगाड़ी से पहुंचे एक कांग्रेस नेता को उनके ही बैल ने पीछे से लात मार दी जिसकी वजह से वो जमीन पर गिर गए।

दरअसल बीते 28 फरवरी को कृषि कानूनों के विरोध में देवरिया के बैतालपुर में कांग्रेस की तरफ से किसान सम्मलेन बुलाया गया था। इसमें शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी देवरिया आये थे। इस सम्मलेन में शामिल होने के लिए एक स्थानीय कांग्रेसी नेता बैलगाड़ी से आये थे। नेताजी बैलगाड़ी से उतर कर नारेबाजी कर रहे थे कि इतने में बैलगाड़ी का बैल काबू से बाहर हो गया। काबू से बाहर होने के बाद के उसने पास में नारेबाजी कर रहे नेताजी को पीछे से लात मार दी। बैल की लात से आहत होकर नेताजी धम्म से सड़क पर गिर गए।

सड़क पर गिरते ही आसपास खड़े लोगों ने आकर नेताजी को संभाला। इसके बाद नेताजी जैसे तैसे अपने आसपास मौजूद लोगों के सहयोग से उठ खड़े हुए। हालाँकि गनीमत यह रही कि नेताजी को कोई गंभीर चोट नहीं आई। नेताजी को संभालने के बाद बैल को भी काबू में किया गया। नेताजी के साथ हुई इस अप्रत्याशित घटना पर आसपास के लोग अपनी मुस्कुराहट को नहीं रोक सके।

हालाँकि आज कल उत्तरप्रदेश में किसान संगठनों के अलावा राजनीतिक दलों की महापंचायतें खूब हो रही हैं। पिछले दिनों कांग्रेस नेत्री प्रियंका गाँधी भी एक किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए पश्चिमी उत्तरप्रदेश गयीं थी। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी मेरठ की एक किसान महापंचायत को संबोधित किया था। अपने संबोधन के दौरान केजरीवाल ने मोदी सरकार और उनकी नीतियों पर जोरदार हमला बोला था।