केंद्र सरकार के टॉप अधिकारी बोले, कोरोना की लहर बहुत तेज, एक साल में इतने इंतजाम संभव नहीं

इंडियन एक्सप्रेस के साथ बात करते हुए विजयराघवन ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा पहली लहर के दौरान अस्पताल और स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढाँचे को बढ़ाने के बड़े प्रयास किए गए थे।

K VijayRaghavan, Corona, Covid-19, Delhi

भारत में कोरोना के तीन लाख से अधिक मामले हर दिन आ रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी के विजय राघवन ने कहा है कि कोरोना की लहर बहुत तेज है। एक साल में इतने इंतजाम कर पाना संभव नहीं था। उन्होंने कहा कि सर्वोत्तम प्रयासों के बाद भी दूसरी लहर से लड़ने के लिए बुनियादी ढांचे को इस स्तर तक विकसित कर पाना संभव नहीं था।

इंडियन एक्सप्रेस के साथ बात करते हुए सरकार के शीर्ष वैज्ञानिक अधिकारी विजयराघवन ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा पहली लहर के दौरान अस्पताल और स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढाँचे को बढ़ाने के बड़े प्रयास किए गए थे। लेकिन जैसे ही लहर में गिरावट दर्ज की गयी हमलोग उतनी तत्परता से काम नहीं कर पाए। साथ ही उन्होंने कहा कि यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली की क्षमताओं को एक साल के भीतर इस स्तर तक बढ़ाना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि आप 20-25 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी कर सकते हैं लेकिन क्षमता में पांच गुना वृद्धि एक वर्ष के भीतर नहीं हो सकती है।पहली लहर के बाद मामलों में गिरावट के कारण दूसरी लहर को लेकर कोई भी यह अनुमान नहीं लगा सकता था। लेकिन वैक्सीन की कमी और अन्य कारणों ने हम सब को लहर की तीव्रता को लेकर अचंभित कर दिया।

विजयराघवन ने उन आरोपों को गलत बताया जिनमें कहा गया था कि भारत ने टीकों की मांग को कम कर दिया था। राघवन पहले जैव प्रौद्योगिकी विभाग में सचिव के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि हम और टीके लाने लाने के लिए काम कर रहे हैं अगले कुछ महीने वो भी आ जाएंगे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली “जल्द ही” अपने दैनिक मामलों में गिरावट देखना शुरू कर सकता है। दूसरी लहर अगले महीने पीक पर हो सकती है। लेकिन हम कितनी सतर्कता बरतते हैं वो बहुत अधिक मायने रखेगा।विजय राघवन ने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। इसके अलावा, तमिलनाडु और कर्नाटक में भी हालात गंभीर है। पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड को भी अत्यंत सतर्क रहने की आवश्यकता है। वैसे, ये सभी राज्य अभी भी चीजों को बदल सकते हैं। उन्होंने कहा कि तत्काल मजबूत कार्रवाई के साथ हम इस संक्रमण को रोक सकते हैं।