केंद्र सरकार ने सिख जत्थे को ननकाना साहिब गुरुद्वारा जाने की नहीं दी इजाजत, 600 श्रद्धालुओं को सुरक्षा का हवाला देकर पाकिस्तान जाने से किया मना

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) को एक पत्र में गृह मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान में सुरक्षा की स्थिति अब भी प्रतिकूल है और वहां पर भारतीय नागरिकों के लिए गंभीर खतरा है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पाकिस्तान में सुरक्षा और कोविड-19 की स्थिति का हवाला देते हुए वहां पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारा जाने के इच्छुक 600 सिख श्रद्धालुओं को अनुमति देने से बुधवार को इनकार कर दिया। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी दी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) को एक पत्र में गृह मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान में सुरक्षा की स्थिति अब भी प्रतिकूल है और वहां पर भारतीय नागरिकों के लिए गंभीर खतरा है। ऐसे में सरकार वहां जाने के लिए अनुमति नहीं दे सकती है। कहा कि हमारे तीर्थयात्रियों की सुरक्षा हमारे लिए महत्वपूर्ण है। हम इसकी अनदेखी नहीं कर सकते हैं।

इसके अलावा, पाकिस्तान में कोविड-19 महामारी से अब तक पांच लाख लोग संक्रमित हुए हैं और संक्रमण से 10,000 लोगों की जान गई है। मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान में स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा भी पर्याप्त नहीं है।

मंत्रालय ने कहा है कि महामारी के कारण मार्च 2020 से ही भारत और पाकिस्तान के बीच यात्रियों का आवागमन और व्यापार सेवा भी रोक दी गई है। पाकिस्तान की स्थिति जब तक सामान्य नहीं हो जाती है, तब तक वहां जाना किसी भी लिहाज से उचित नहीं होगा।

इन कारणों का हवाला देते हुए गृह मंत्रालय ने एसजीपीसी को बताया कि उसने शुक्रवार को पाकिस्तान जाने के इच्छुक 600 श्रद्धालुओं के जत्थे को अनुमति नहीं देने का फैसला किया है। अफसरों ने कहा कि हालात पर काफी विचार-विमर्श के बाद ही यह फैसला लिया गया है।