कैप्टन अमरिंदर बीजेपी में जाएंगे? एंकर के सवाल पर बोलीं बीजेपी की शाजिया- बेगानी शादी में अब्दुल्ला बनने का शौक नहीं

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपना पद छोड़ दिया था। इस्तीफा के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला बोला था।

Arnab goswami,BJP,Shazia Ilmi बीजेपी नेता शाजिया इल्मी (फोटो- ट्विटर@shaziailmi)

पंजाब कांग्रेस में जारी विवाद को लेकर आजतक चैनल पर चल रहे एक शो में भारतीय जनता पार्टी की नेता शाजिया इल्मी ने कहा कि उनकी पार्टी को बेगानी शादी में अब्दुल्ला बनने का शौक नहीं है। एकंर ने उनसे सवाल पूछा था कि क्या यह घटना बीजेपी के लिए कोई संभावना को जन्म देता है?

जवाब देते हुए शाजिया ने कहा कि हमें बेगानी शादी में अब्दुल्ला बनने का शौक नहीं है। उन्होंने कहा कि लेकिन जो हालात बने हैं वो बताता है कि कांग्रेस पार्टी किस तरह से अपने नेताओं का अपमान करती है। पंजाब में जो हालात हैं, वो कांग्रेस पार्टी के चेहरे को दर्शाते हैं कि वो किस तरह से लोगों का चयन करते हैं, तिरस्कार करते हैं।

बताते चलें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपना पद छोड़ दिया था। इस्तीफा के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर भी जमकर भड़के थे। अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा था कि नवजोत सिंह सिद्धू कुछ नहीं संभाल सकता, मैं उसे अच्छी तरह जानता हूं। वो पंजाब के लिए भयानक होने वाला है। ये कांग्रेस पार्टी का फैसला है अगर वे नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब के मुख्यमंत्री का चेहरा बनाते हैं तो मैं इसका विरोध करूंगा क्योंकि ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है।

उन्होंने कहा था कि मैं जानता हूं पाकिस्तान के साथ नवजोत सिंह सिद्धू के कैसे संबंध हैं। पाकिस्तान का प्रधानमंत्री उसका दोस्त है, जनरल बाजवा के साथ उसकी दोस्ती है। साथ ही उन्होंने मीडिया के सामने कहा कि रोज़ कश्मीर में हमारे जवान मारे जा रहे हैं। तो आपको क्या लगता है मैं नवजोत सिंह सिद्धू के नाम को स्वीकार करूंगा।

बताते चलें कि कांग्रेस की पंजाब इकाई के सीनियर नेता चरणजीत सिंह चन्नी को रविवार को पार्टी विधायक दल का नया नेता चुना गया और अब वह राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे। हरिश रावत ने ट्वीट कर बताया कि चरणजीत सिंह चन्नी को विधायक दल का नेता चुना गया है और वह पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे। इसी के साथ पंजाब को पहला दलित मुख्यमंत्री मिल गया है। भारी उलटफेर के बीच चरणजीत सिंह चन्नी के लिए मुख्यमंत्री का रास्ता साफ हुआ है।