कोरोनाः नहीं रहीं शक्तिमान की बहन, भावविह्वल पोस्ट में कहा- अफवाहों के बीच एक भयंकर सच मेरे ही ऊपर मंडरा रहा था

कोविड से ठीक होने के बाद फेफड़ों में कंजेश्चन की वजह से नहीं रहीं कमल कपूर। मुकेश खन्ना ने कहा, जीवन में पहली बार हिल गया हूं मैं।

The Mukesh Khanna Show, West Bengal Elections, मुकेश खन्ना, कोरोना, बंगाल इलेक्शन, Corona,

शक्तिमान जिंदा है…मैं मरा नहीं हूं…..मैं जिंदा हूं…। सुप्रसिद्ध अभिनेता मुकेश खन्ना का बुधवार इसी तरह अपनी मौत की अफवाह का खंडन करते बीता। लेकिन, सुबह उनसे ज्यादा दुखी आदमी शायद दूसरा नहीं था। गुरुवार को उनकी बहन कमल कपूर की मौत हो गई। उनकी मौत कोविड-जनित जटिलताओं के कारण हुई। उनके फेफड़ों में कंजेश्चन, जमाव हो गया था।

महाभारत सीरियल में भीष्म पितामह के रोल के बाद पूरे देश में मशहूर हुए मुकेश खन्ना ने बहन से बिछड़ने का अपना दुख सोशल मीडिया में एक पोस्ट के जरिए शेयर किया है। उन्होंने इंस्टाग्राम में एक फोटो भी लगाई है, जिसमें वे और उनकी बहन कमल कपूर परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खड़ी हैं। मुकेश ने लिखा हैः कल मैं घंटों अपनी मौत की झूठी खबर का सच बताने के लिए संघर्ष करता रहा। लेकिन मुझे पता नहीं था कि एक भयंकर सच मेरे ऊपर मंडरा रहा है। आज मेरी इकलौती बहन कमल कपूर का दिल्ली में निधन हो गया।

मुकेश खन्ना ने लिखा हैः जीवन में यह पहली बार है कि मैं हिल गया हूं।…उनके निधन से मैं काफी मर्माहत हूं। 12 दिन में कोविड को हराने के बाद लंग्स के कंजेश्चन से वो हार गईं। पता नहीं, ऊपर वाला क्या हिसाब-किताब कर रहा है। सचमुच, मैं पहली बार जिंदगी में हिल गया हूं।

अपने प्रिय अभिनेता के दुख में उनके तमाम फैन्स ने सोशल मीडिया पर दुख जताया है। कुछ ने कहा है कि वे दुख की इस घड़ी में उनके साथ खड़े हैं तो किसी ने कहा है कि ढाढस बंधाते हुए कहा है कि आप मजबूत बने रहें। कुछ ने प्रणाम जैसे ईमोजी से अपने मन के भाव व्यक्त किए हैं।

मुकेश खन्ना की फैन फालोइंग आज भी जबर्दस्त है। दरअसल, उनको टीवी की दुनिया में एकदम शुरू में ही जबर्दस्त सफलता मिल गई थी। बीआर चोपड़ा के सीरियल महाभारत में उन्होंने भीष्म पितामह का इतना जबर्दस्त रोल निभाया था जिसकी बराबरी आज तक कोई नहीं कर सका। उनकी भारी आवाज भीष्म के कैरेक्टर के साथ बहुत फिट बैठी थी। उनकी डायलाग डिलीवरी को भी बहुत अरसे तक लोग याद करते रहे थे। सबसे बड़ी बात तो यह थी कि जब वे वृद्ध भीष्म का रोल कर रहे थे, वे एकदम युवा थे।

भीष्म के बाद सुपरमैन की स्टाइल में बने सीरियल शक्तिमान ने तो उनको हिन्दुस्तान के हर बच्चे का हीरो बना दिया था। शक्तिमान का उंगली नचाकर चक्कर खाते हुए आसमान में उड़ जाना बच्चों को बहुत भाता था। यह उड़ना इतना पापुलर था कि ऐसा करने के चक्कर में कई बच्चे हादसों का शिकार हो गए थे।इसीलिए सीरियल में शक्तिमान को कहानी से इतर आकर बच्चों को समझाना पड़ता था कि वे उनकी नकल कतई न करें।