कोरोनाः पीक आया जल्दी, चुनाव समेत अन्य कारणों से न मिल पाया निपटने का वक्त- बोलीं केरल की स्वास्थ्य मंत्री; महाराष्ट्र में 1 मई से सबके टीके पर ‘संकट के बादल’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं और उन्हें अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक और मिलेंगी।

covid-19 vaccination, kerala, maharashtra

केरल के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कोविड-19 महामारी की चरम स्थिति बहुत तेजी और जल्दी आ गई। हमें इसके खिलाफ संभलने का अवसर नहीं मिल सका। विधानसभा चुनाव सहित इसके कई कारण रहे हैं। हमने दैनिक केसों में कुछ उछाल का अनुमान लगाया था और इसको लेकर आईसीयू बेड, वेंटिलेटर आदि को दोगुना कर लिया था, लेकिन यह बहुत ज्यादा बड़ी महामारी है।

उन्होंने कहा, “टीकों की आपूर्ति करना केंद्र का कर्तव्य है। हम ऑर्डर दे रहे हैं, लेकिन कंपनियां कह रही हैं कि वे वैक्सीन की आपूर्ति मई अंत या जून की शुरुआत में करेंगी। यह एक महीने की देरी खतरनाक होगी। हमें जीवन बचाने के लिए तत्काल टीका की आवश्यकता है। उधर, महाराष्ट्र में मुंबई के नगर निकाय बीएमसी (बृहन्मुंबई महानगर पालिका) में अतिरिक्त नगर आयुक्त अश्विनी भिड़े ने ट्वीट कर कहा, 18 से 44 वर्ष की आयु वाले लोगों के लिए एक मई से टीकाकरण कर पाना संभव नहीं है। हमारे पास पर्याप्त टीका उपलब्ध नहीं है। टीका मिलने के बाद ही यह शुरू हो सकेगा।

दूसरी तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं और उन्हें अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक और मिलेंगी। हाल ही में महाराष्ट्र सरकार के कुछ अधिकारियों के हवाले से मीडिया में खबरें आई कि राज्य में टीके की खुराक “खत्म” हो गई हैं जिससे राज्य में टीकाकरण अभियान पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। इस पर मंत्रालय ने कहा कि राज्य के पास टीकाकरण के लिये पात्र व्यक्तियों को लगाने के लिये अब भी 7,49,960 खुराक उपलब्ध है।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘यह स्पष्ट किया जाता है कि महाराष्ट्र को 29 अप्रैल को सुबह आठ बजे तक टीके की 1,63,62,470 खुराक मिलीं।’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘इनमें से खराब (0.22 प्रतिशत) होने वाली खुराक के साथ ही 1,56,12,510 खुराक की खपत हुई। राज्य के पास अब भी टीके की 7,49,960 खुराक उपलब्ध हैं।’’

भारत सरकार ने अब तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 से प्रतिरक्षा हेतु टीके की करीब 16.16 करोड़ खुराक मुफ्त उपलब्ध कराई हैं।

मंत्रालय ने कहा कि इनमें से खराब होने वाली खुराक के साथ ही 15,10,77,933 खुराक की खपत हुई है। उसने कहा, ‘‘राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश के पास टीके की एक करोड़ से अधिक (1,06,08,207) खुराक उपलब्ध हैं। अगले तीन दिनों में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 20 लाख से अधिक (20,48,890) खुराक उपलब्ध कराई जाएगी।’’ मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण का तीसरा चरण एक मई से शुरू होगा।