कोरोनाः ममता बनर्जी ने लोकल ट्रेनों पर लगाई रोक, सूबे में आने के लिए नेगेटिव कोविड रिपोर्ट अनिवार्य

तीसरी बार मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर तय समय के भीतर सभी लोगों के लिए नि:शुल्क कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

Author भाषा Edited By Sanjay Dubey कोलकाता | Updated: May 5, 2021 6:16 PM
Mamata Banerjee, Jagdeep Dhankhar

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शपथग्रहण के तुरंत बाद राज्य में कोविड-19 स्थिति की बुधवार को समीक्षा की और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए नई पाबंदियों की घोषणा की जिनके तहत स्थानीय ट्रेन सेवाओं पर रोक लगा दी गई है।

शीर्ष अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक के बाद बनर्जी ने कहा कि नये प्रतिबंधों के तहत मेट्रो रेल और राज्य परिवहन सेवाएं भी बृहस्पतिवार से 50 प्रतिशत तक सीमित कर जाएंगी। संवाददाता सम्मेलन में बनर्जी ने कहा कि बैंक सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक काम करेंगे और सरकारी दफ्तरों को 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ काम करने को कहा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य प्रशासन ने निजी कंपनियों से घर से काम करने को प्राथमिकता देने का भी अनुरोध किया है।

बनर्जी ने कहा, “स्थानीय ट्रेनों पर कल से रोक रहेगी। राज्य परिवहन एवं मेट्रो सेवाएं भी 50 प्रतिशत तक सीमित होंगी। सात मई से हवाई यात्रियों को बंगाल में प्रवेश की अनुमति नेगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दिखाने पर ही मिलेगी जो यात्रा से 72 घंटे से अधिक का नहीं होना चाहिए।”

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि लंबी दूरी की ट्रेनों और अंतरराज्यीय बसों से राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों को भी उनके साथ आरटी-पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। बनर्जी ने बताया कि सभी शापिंग मॉल, सैलून, रेस्तरां, बार, खेल परिसर, जिम, स्पा और स्विमिंग पूल अभी बंद ही रहेंगे।

विधानसभा चुनाव में मिली शानदार जीत के बूते लगातार तीसरी बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर तय समय के भीतर सभी लोगों के लिए नि:शुल्क कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

बनर्जी ने पत्र में पश्चिम बंगाल में ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी की ओर प्रधानमंत्री का ध्यान आर्किषत करते हुए इसे लेकर चिंता व्यक्त की और मौजूदा स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत बनाने की जरुरत पर बल दिया है।