कोरोनाः विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ ब्रिटेन टूर पर गए ऑफिसर निकले कोरोना पॉजिटिव, अब करेंगे वर्चुअल मीटिंग

जी-7 समूह के देशों के विदेश मंत्रियों एवं विकास मंत्रियों की बैठक में बतौर अतिथि हिस्सा लेने के लिए ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब के आमंत्रण पर जयशंकर सोमवार को लंदन पहुंचे।

Author भाषा Edited By Sanjay Dubey लंदन | Updated: May 5, 2021 9:58 PM
G-7 Meeeting, S. Jaishankar

विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ ब्रिटेन गये प्रतिनिधिमंडल के दो सदस्य कोविड-19 से संक्रमित पाये गये हैं। इस वजह से विदेश मंत्री को यहां अपने आधिकारिक कार्यक्रमों में फेरबदल करना पड़ा है। जी-7 समूह के देशों के विदेश मंत्रियों एवं विकास मंत्रियों की बैठक में बतौर अतिथि हिस्सा लेने के लिए ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब के आमंत्रण पर जयशंकर सोमवार को लंदन पहुंचे।

जयशंकर ने बुधवार को ट्वीट किया, “मुझे कल शाम कोविड-19 से संक्रमितों के संपर्क में आने का पता चला।” विदेश मंत्री ने कहा, “एहतियात के तौर पर और अन्य लोगों से विचार-विमर्श के बाद मैंने डिजिटल तरीके से अपने कार्यक्रमों को करने फैसला किया है। आज की जी-7 बैठक में भी डिजिटल तरीके से ही हिस्सा लूंगा।” सूत्रों के अनुसार प्रतिनिधिमंडल के दो सदस्य मंगलवार को कोविड-19 से संक्रमित पाये गये और आगे की जांच रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है।

डोमिनिक राब ने कहा, “ऑस्ट्रेलिया, भारत और कोरिया गणराज्य तथा दक्षिण अफ्रीका से हमारे मित्रों समेत आसियान (दक्षिणपूर्व एशियाई देशों के संघ) के अध्यक्ष का जुड़ना जी7 में हिंद प्रशांत क्षेत्र के बढ़ते महत्व को दर्शाता है।” जयशंकर मंगलवार शाम अन्य मेहमान देशों के मंत्रियों के साथ पहली बार शिखर सम्मेलन में औपचारिक रूप से हिस्सा लेने वाले थे। बुधवार को भी वह शिखर सम्मेलन में शामिल होने वाले थे।

विदेश, राष्ट्रमंडल एवं विकास (एफसीडीओ) में ब्रिटेन के वरिष्ठ राजनयिक ने कहा, “हमें खेद है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर आज की बैठक में प्रत्यक्ष रूप से हिस्सा नहीं ले पायेंगे, बल्कि वह डिजिटल तरीके से बैठक का हिस्सा बनेंगे। यही वजह है कि हमने कोविड-19 के सख्त नियम और रोजाना जांच का नियम बनाया है।”

केंट के चेवनिंग में ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब के साथ बृहस्पतिवार को प्रस्तावित द्विपक्षीय बैठक में भी वह डिजिटल तरीके से हिस्सा लेंगे। जयशंकर विदेश मंत्री राब के आमंत्रण पर जी-7 समूह के देशों के विदेश मंत्रियों एवं विकास मंत्रियों की बैठक में बतौर अतिथि हिस्सा लेने के लिए अपनी चार दिवसीय ब्रिटेन यात्रा पर सोमवार को लंदन पहुंचे थे। ऐसा प्रतीत होता है कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल शिखर सम्मेलन को किसी तरह के संभावित खतरे में नहीं डालना चाहता इसलिए प्रतिनिधिमंडल ने लंदन में लैंकास्टर हाउस में अब तक जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा नहीं लिया।