कोरोना से हाहाकार: ऑक्सिजन की कमी से गंगाराम में 25 मौतों का शक, कई अस्पतालों में दाख़िला बंद, भर्ती मरीज़ों को भी डिस्चार्ज करने पर जोर

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर ने बताया “अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 बीमार मरीजों की मौत हो गई है।अस्पताल में ऑक्सीजन बस दो घंटे और चलेगी।”

Sir Ganga Ram Hospital, Delhi Oxygen Shortage, covid 19, delhi covid, arvind kejriwal, covid death update, corona news update, covid center in delhi, delhi news update, jansatta

दिल्ली के कई निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। शुक्रवार को भी लगातार चौथे दिन कोविड-19 मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ा। ऐसे में कई अस्पतालों ने मरीजों का दाख़िला बंद कर दिया है, वहीं कई ने  प्रशासन से मरीजों को अन्य अस्पताल में स्थानांतरित करने का आग्रह किया है।

इसी बीच सर गंगाराम अस्पताल में पिछले 24 घंटे में गंभीर रूप से बीमार 25 कोविड मरीजों की मौत हो गयी और 60 ऐसे और मरीजों की जान भी खतरे में है। राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की कमी को लेकर गंभीर संकट की स्थिति पैदा होने के बीच अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बारे में बताया। एक सूत्र ने बताया कि घटना के पीछे संभावित वजह “ऑक्सीजन की कमी” हो सकती है।

अस्पताल के पास अब महज दो घंटे की ही ऑक्सीजन बची है और करीब 65 मरीजों की जान पर खतरे में है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर ने बताया “अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 बीमार मरीजों की मौत हो गई है।अस्पताल में ऑक्सीजन बस दो घंटे और चलेगी।”

डायरेक्टर ने कहा कि वेंटिलेटर और बाइलेवल पॉजिटिव एयरवे प्रेशर (Bipap) प्रभावी ढंग से काम नहीं कर रहे हैं। ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है। आईसीयू और ईडी में मैन्‍युअल तरीके से वेंटिलेशन किया जा रहा है।

वहीं अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा, “स्टोर में जो ऑक्सीजन उपलब्ध है, वह कुछ घंटे के उपयोग के लिए बची है। हमें तत्काल ऑक्सीजन आपूर्ति की आवश्यकता है।” मध्य दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में 500 से ज्यादा संक्रमित मरीज भर्ती हैं और इनमे से 150 मरीज ‘हाई फ्लो ऑक्सीजन सपोर्ट’ पर हैं।

अस्पताल के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार रात सरकार को आपात संदेश भेजकर कहा था कि स्वास्थ्य केंद्र में केवल पांच घंटे के लिए ऑक्सीजन बची है और तुरंत इसकी आपूर्ति का अनुरोध किया था। पिछले चार दिनों में शहर के कई निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति व्यवस्था प्रभावित हुई है। कुछ अस्पतालों ने दिल्ली सरकार से मरीजों को दूसरे स्वास्थ्य केंद्रों में भी भेजने का अनुरोध किया।

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन कि कमी को लेकर एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि इनमें से कुछ अस्पताल अल्प अवधि के लिए कुछ इंतजाम करने में समर्थ हैं। हालांकि, इस संकट का तत्काल कोई समाधान होता नहीं दिख रहा है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को बृहस्पतिवार को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी के छह अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म हो गयी है। केन्द्रीय मंत्री को लिखे गए पत्र में सिसोदिया ने इंगित किया है कि सरोज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, शांति मुकुंद, तीरथ राम शाह अस्पताल, यूके नर्सिंग होम, राठी अस्पताल और सैंटम अस्पताल के पास ऑक्सीजन का स्टॉक समाप्त हो गया है।

वहीं, पूर्वी दिल्ली में 200 बेड वाले शांति मुकुंद अस्पताल के प्रशासन ने मुख्य द्वार पर एक नोटिस लगाया है जिसमें लिखा है, ‘‘हमें खेद है कि हम अस्पताल में मरीजों की भर्ती रोक रहे हैं क्योंकि ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो रही है।’’