क्या आप बीजेपी विरोधी हैं? दीपक चौरसिया के सवाल पर राकेश टिकैत ने किया पलटवार- आप तो भाजपा में नहीं हो ना?

राकेश टिकैत से दीपक चौरसिया ने सवाल किया कि आप भाजपा के विरोधी हैं? उनके सवाल पर किसान नेता ने पलटवार करने का मौका नहीं छोड़ा।

Rakesh Tikait भाकियू नेता राकेश टिकैत (सोर्स- एएनआई ट्विटर)

कृषि कानूनों की वापसी के बाद भी किसानों ने आंदोलन वापसी से इंकार कर दिया, साथ ही सरकार के सामने एमएसपी गारंटी कानून जैसी मांगें भी रखीं। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि जब तक सरकार संसद में कानून वापस नहीं ले लेती है, वे आंदोलन को खत्म नहीं रखेंगे, साथ ही सरकार के सामने एमएसपी गारंटी कानून की मांग भी रखेंगे। इन मांगों को लेकर राकेश टिकैत ने दीपक चौरसिया को भी इंटरव्यू दिया। लेकिन इंटरव्यू के बीच ही दीपक चौरसिया ने उनसे पूछ लिया कि क्या आप भाजपा विरोधी हैं?

दीपक चौरसिया के इस सवाल पर पलटवार करने से खुद राकेश टिकैत भी पीछे नहीं हटे। राकेश टिकैत से सवाल करते हुए दीपक चौरसिया ने कहा, “लोग कह रहे हैं कि राकेश टिकैत आंदोलन को 2022 में भी ले जाना चाहते हैं, क्योंकि 2022 में पंजाब के चुनाव हैं, यूपी के चुनाव हैं?” उनके जवाब में किसान नेता ने कहा, “चुनाव से क्या मतलब है हमें और चुनाव तक इन्होंने जाने ही क्यों दिया?”

राकेश टिकैत ने अपने जवाब में आगे कहा, “आंदोलन तो पिछले एक साल से चल रहा है। इन्हें बातचीत करनी चाहिए थी, जो बात हम किसानों ने 10 महीने पहले कही, वो इन्हें 10 महीने बाद समझ में आई क्या? ये ही बात तो हम कह रहे थे कि कानून वापस ले लो?” राकेश टिकैत के जवाब पर दीपक चौरसिया ने पूछा, “आप पर आरोप है कि आप भाजपा विरोधी हैं?”

सवाल पर खुद राकेश टिकैत ने भी पलटवार करने का मौका नहीं छोड़ा। किसान नेता ने कहा, “भाजपा से हमारा क्या मतलब है? हमारा किसी भी पार्टी से क्या ही मतलब है। ये सरकार भाजपा की है क्या, देश के प्रधानमंत्री भाजपा के हैं क्या?” उनकी बात पर दीपक चौरसिया ने कहा, “पार्टी तो उनकी भाजपा ही है ना?”

वहीं राकेश टिकैत ने आगे सवाल किया, “आप बता दो, आप तो भाजपा में नहीं हो? प्रधानमंत्री आपके भी तो होंगे?” उनके जवाब में पत्रकार ने कहा, “मैं भाजपा में बिल्कुल नहीं हूं, मैं तो न्यूज नेशन में काम करता हूं। मेरे प्रधानमंत्री हैं, लेकिन उनकी पार्टी तो भाजपा है ना।” उनकी बात पर राकेश टिकैत ने कहा, “हमारा भारत सरकार से मामला है, हमारा मामला किसी पार्टी से नहीं है।”