‘खेल के मैदान में भी ये बाज नहीं आते’ फिल्ममेकर का आरोप-रची गई थी नीरज चोपड़ा की हार की सााजिश!

नीरज चोपड़ा ने इतिहास रचते हुए भारत को 13 साल बाद ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाया।

Neeraj Chopra, Gold Medalist Neeraj Chopra, गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा (फोटो सोर्स- अशोक पंडित ट्वीट)

टोक्यो ओलंपिक में भारत का नाम रौशन करने वाले जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा का एक वीडियो शेयर करते हुए फिल्ममेकर अशोक पंडित ने कहा है कि खेल के मैदान में साजिश की गई थी ताकि नीरज चोपड़ा जीत न सकें। उन्हें हराने की तैयारी कर ली गई थी। दरअसल, अशोक पंडित ने पाकिस्तान के एक खिलाड़ी का नाम लेते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने नीरज चोपड़ा का जैवलीन चुरा लिया था, ताकि वह गोल्ड न जीत सकें।

अशोक पंडित ने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा- ‘खेल के मैदान में भी यह पाकिस्तानी अपनी आतंकवादी हरकतों से बाज़ नहीं आते!’ अशोक पंडित ने आगे कहा- ‘इस पाकिस्तानी अरशद नदीम ने नीरज चोपड़ा का जैवलीन चुरा लिया ताकि नीरज चोपड़ा गोल्ड नहीं जीत पाए! लेकिन नीरज की अचानक नज़र पड़ी और उसने अरशद से जैवेलिन वापस ले लिया! नीरज फिर भी अरशद की तारीफ़ करता रहा!’

अशोक पंडित के इस पोस्ट पर लोगों के ढेरों रिएक्शन सामने आने लगे। एक यूजर ने अशोक पंडित के पोस्ट को देख रिएक्ट किया और सवाल पूछने लगा- ‘हद है मतलब यहां भी दिखा ही दिया आपने। आपको यकीन है कि उसने जानबूझ के ऐसा किया? नीरज चोपड़ा ने ऐसा बोला क्या? खिलाड़ी को खिलाड़ी ही रहने दो।’

करण शर्मा नाम के एक यूजर ने इस यूजर को जवाब देते हुए कहा- ‘हां भाई बोला, उसका इंटरव्यू चेक करो।’ बैंस सिंह नाम के एक यूजर बोले- ‘इतना ध्यान 300 kg RDX जब भारत में आया तो रख लेना था।’ अमरजीत वर्मा ने कहा- ये लोग नहीं सुधरेंगे। आरके मोदी नाम के यूजर बोले- ‘वो जेवलिन का साइज चेक कर रहा था। चुराया नही था।’

बता दें, नीरज चोपड़ा ने इतिहास रचते हुए भारत को 13 साल बाद ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाया। नीरज इसी के साथ ही ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में भारत के लिए ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहले एथलीट बने। इससे पहले भारत को साल 2008 के बीजिंग ओलंपिक में शूटर अभिनव बिंद्रा ने गोल्ड मेडल दिलाया था।