गरीब रथ में सफर करना होगा और भी सस्ता? लगेंगे इकोनॉमी क्लास एसी- 3 कोच, मिलेंगी खास सुविधाएँ

गरीब रथ ट्रेनों में रेलवे इन नए कोचों का इस्तेमाल सिर्फ एसी-3 इकोनॉमी कोच में करेगा। इससे एसी क्लास में यात्रा कम किराए में सुलभ हो जाएगी।

garib rath, train तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)

गरीब रथ के पुराने डिब्बों को पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल के दौरान लॉन्च किया गया था, उनकी जगह नए इकोनॉमी 3एसी कोच लगाए जाएंगे। यात्रियों को अधिक सीटें उपलब्ध कराने के लिए बनाए जा रहे नए एसी-3 इकोनॉमी क्लास का किराया पुराने 3एसी कोच के 72 बर्थ की तुलना में तय किया गया है। सूत्रों के मुताबिक इसका किराया एसी-3 टियर के किराए से करीब 8 फीसदी कम होगा।

इन नए मॉडल कोचों की कुछ खास विशेषताएं: गरीब रथ ट्रेनों में रेलवे इन नए कोचों का इस्तेमाल सिर्फ एसी-3 इकोनॉमी कोच में करेगा। इससे एसी क्लास में यात्रा कम किराए में सुलभ हो जाएगी। भारतीय रेलवे के तहत इस समय 26 जोड़ी गरीब रथ ट्रेनें चल रही हैं। भारतीय रेलवे के पास इन ट्रेनों के लिए 25 रेक हैं। रेलवे की योजना इन रेक को एक-एक करके हटाने और इनकी जगह एसी-3 इकोनॉमी कोच लगाने की है। अगर उन ट्रेनों में एसी-3 इकोनॉमी का किराया लागू कर दिया जाता है तो आने वाले दिनों में गरीब रथ ट्रेन का किराया करीब 10 फीसदी तक बढ़ सकता है।

एसी-3 इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य: फिलहाल रेलवे की कपूरथला रेल कोच फैक्ट्री में एसी-3 इकोनॉमी क्लास के 50 कोच बनाए जा चुके हैं। इन कोचों को देश भर के अलग-अलग रेलवे जोन में भेजा गया है। अब इन्हें अलग-अलग ट्रेनों में लगाने की योजना है। इसके साथ ही रेलवे की आने वाले साल में 800 एसी-3 इकोनॉमी कोच बनाने की योजना है। इनमें इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई के 300 कोच, मॉडर्न कोच फैक्ट्री रायबरेली के 285 कोच और रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला के 177 कोच शामिल हैं।

एसी-3 टियर इकोनॉमी क्लास में 83 बर्थ हैं। इसके लिए 2 की जगह 3 बर्थ को साइड में रखा गया है। जबकि एसी-3 में 72 बर्थ हैं। यानी एसी-3 इकोनॉमी क्लास में एसी-3 के मुकाबले करीब 15 फीसदी ज्यादा बर्थ हैं। इसका मतलब है कि एसी-3 इकोनॉमी क्लास के डिब्बों से रेलवे को ज्यादा फायदा होने वाला है। साइड में 3 बर्थ वाली गरीब रथ ट्रेनें पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल के दौरान भी शुरू की गई थीं। हालांकि गरीब रथ का किराया एसी-3 के किराए से 15 फीसदी कम रखा गया था।

नए एसी 3-टियर इकोनॉमी कोच की विशेषताएं: कोच के डिजाइन में प्रत्येक बर्थ के लिए अलग-अलग वेंट प्रदान करने के लिए एक पुन: डिज़ाइन किया गया एसी डक्ट शामिल है। कोच में सीटों और बर्थों का एक बेहतर और मॉड्यूलर डिज़ाइन है, फोल्डेबल स्नैक टेबल, पानी की बोतलें, मोबाइल फोन और मैग्जीन रखने के लिए जगह होगी। सॉकेट के अलावा प्रत्येक बर्थ के लिए अलग-अलग रीडिंग लाइट और मोबाइल चार्जिंग पॉइंट प्रदान किए जाएंगे। कोच में व्यापक दरवाजे हैं जो इसे विशेष रूप से दिव्यांग यात्रियों के लिए सुविधाजनक बनाते हैं।