गौतम अडानी की अडानी टोटल गैस ने इस कंपनी की आधी हिस्सेदारी खरीदी, पीएनजी कारोबार को बढ़ाने में मदद मिलेगी

Gautam Adani: अडानी टोटल गैस अडानी ग्रुप और फ्रांस की टोटल एनर्जी का जॉइंट वेंचर है। यह कंपनी सीएनजी और पीएनजी का रिटेल कारोबार करती है। अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए अडानी टोटल गैस ने स्मार्टमीटर्स टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड की 50 फीसदी हिस्सेदारी 1 करोड़ रुपए में खरीदी है।

Adani Total Gas, Adani Group अडानी टोटल गैस अडानी ग्रुप और फ्रांस की टोटल एनर्जी का जॉइंट वेंचर है।

गौतम अडानी के नेतृत्व वाले अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी टोटल गैस ने गैस मीटर बनाने वाली कंपनी में 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है। इससे अडानी टोटल गैस को अपने गैस रिटेल कारोबार को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

स्टॉक एक्सचेंज को दी जानकारी में कहा गया है कि अडानी टोटल गैस ने स्मार्टमीटर्स टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (SMTPL) की 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है। यह हिस्सेदारी 1 करोड़ रुपए में खरीदी गई है। 31 मार्च 2021 को खत्म हुए वित्त वर्ष में SMTPL का टर्नओवर 4.83 करोड़ रुपए रहा था। यह कंपनी घरों की रसोई में पाइपलाइन के जरिए दी जाने वाली गैस की खपत मापने वाले मीटर बनाती है। अडानी टोटल गैस ने कहा है कि इस खरीदारी के मकसद प्रीपेड स्मार्ट मीटर बनाने पर फोकस करना है। यह सौदा सितंबर तक पूरा होने का अनुमान है।

सीएनजी-पीएनजी का रिटेल कारोबार करती है अडानी टोटल गैस: अडानी टोटल गैस अडानी ग्रुप और फ्रांस की टोटल एनर्जी का जॉइंट वेंचर है। अडानी टोटल गैस वाहनों को सीएनजी और घरों-फैक्ट्रियों में पाइप्ड नेचुरल गैस (PNG) का रिटेल कारोबार करती है। अडानी टोटल ने बयान में कहा कि इस सौदे के तहत SMTPL के 10 लाख इक्विटी शेयर खरीदे गए हैं। प्रत्येक शेयर की वैल्यू 10 रुपए है।

जून तिमाही में 138 करोड़ रुपए का प्रॉफिट: अडानी टोटल गैस का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में शानदार प्रदर्शन रहा है। अप्रैल-जून तिमाही में अडानी टोटल गैस का नेट प्रॉफिट 138 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले प्रॉफिट में 199 फीसदी की ग्रोथ रही है। पिछले साल समान अवधि में कंपनी का नेट प्रॉफिट 46 करोड़ रुपए रहा था।

सेबी ने अडानी विल्मर के आईपीओ को स्थगित किया: उधर, मार्केट रेगुलेटर सेबी ने अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी विल्मर के आईपीओ को स्थगित कर दिया है। अडानी ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज के खिलाफ जांच जारी रहने के चलते सेबी ने यह कार्यवाही की है। सेबी विदेशी निवेशकों को लेकर अडानी एंटरप्राइजेज की जांच कर रही है।