घर खरीदरने से पहले कहीं आप तो नहीं कर रहे हैं ये गलतियां, हो सकता है बड़ा नुकसान

घर खरीदना किसी भी मिडिल क्‍लास के लिए सबसे बड़ा इंवेस्‍टमेंट होता है। यह काफी इमोशनल भी है। ऐसे में घर को खरीदने समय में इमोशन को साइड में रखना काफी जरूरी है। साथ कई बातों का घ्‍यान रखना काफी जरूरी है, जिन्हें अमूमन भुला दिया जाता है। जिसके बाद काफी मुश्‍किलों का सामना करना पड़ता है।

Joint Home Loan Joint Home Loan से आम लोगों को कई तरह के फायदे मिलते हैं। (Photo : FE Twitter)

जब लोग कहते हैं कि उन्हें एक घर से प्यार हो गया तो उन्‍हें इस कहवात को याद चाहिए कि प्‍यार अंधा होता है। घर खरीदना किसी भी मिडिल क्‍लास आदमी के लिए बड़ा इंवेस्‍टमेंट होता है और काफी इमोशनल भी। जोकि काफी खतरनाक कांब‍िनेशन है। अपना खुद का खरीदने का मन है तो किसी तरह की जल्‍दबाजी ना करें, क्‍योंकि इसके परिणाम काफी भयंकर हो सकते हैं। क्‍योंकि यह इंवेस्‍टमेंट आपकी पूरी जिंदगी के कमाई के आसपास ही होती है। वहीं दूसरी ओर घर बेचने वाले भी निवेशकों का भावनाओं का गलत फायदा उठा रहे हैं। ऐसे में घर खरीदने से पहले कुछ गलतियों को बिल्‍कुल ना करें, जिससे आपको बाद में पछतावा हो।

घर खरीदने से पहले देखें लोकेशन
घर को खरीदने से पहले देखें कि आसपास की लोकेशन कैसी है। इसका एक कारण भी है कि आज जब आप बायर है तो अगले कुछ सालों में उसी घर सेलर भी हो सकते हैं। ऐसे में उन जगहों पर घर खरीदना चाहिए जहां सभी तरह की सुविधाएं हों और आपको आपके परिवार को किसी भी तर‍ह के सिक्‍योरिटी रीजंस की वजह से परेशानी ना उठानी पड़े। वहीं जब आप इसे बेचना पड़े तो बायर को खरीदने में किसी तरह की दिक्‍कत ना हो।

ऑनलाइन या वीडियो विजिट नहीं, साइट पर जाएं
मौजूदा कोविड के दौर में लोगों को घरीदना तो है, लेकिन सुरक्षा के कारणों से घर को विजिट नहीं कर रहे हैं। ऐसा करने से आपको नुकसान हो सकता है। जानकार कहते हैं कि कई लोग अपनी वेबसाइट पर डाली गई घरों की वीडियो से लुभाने का प्रयास कर सकते हैं, जिनके बहकावे में आकर घर खरीद भी सकते हैं। सच्‍चाई का पता मौके पर जाकर चलता है जब वीडियो से अलग तस्‍वीर सामने आती है। ऐसे में घर की जिस तरह की विशेषताएं ब्रोशर और वीडियो में बताई गई हैं, उन्‍हें मौके पर देखकर आना काफी जरूरी है।

इंसपेक्‍शन है जरुरी
मौजूदा समय में कई घर खरीदार प्राइमरी इंस्‍पेक्‍शन से बच रहे हैं। इसका असर यह होता कि घर पर आने के बाद धीरे-धीरे खाम‍ियों के बारे में पता चलता है। जिस‍े ठीक कराने के लिए बायर को अपनी जेब से मोटा खर्च करना पड़ता है। जानकार कहते हैं कि घर खरीदने से पहले घर का पूरा इंस्‍पेक्‍शन करें। सीवर लाइन से लेकर घर की दीवारों तक यहां तक घर की वायरिंग तक का भी निरिक्षण करें ताकि कोई भी खराबी निकलने पर विक्रेता उसे ठीक कराए उसके बाद भी उसे खरीदे।

हाई मेंटेनेंस वैकेशन होम
वीकेंड रिट्रीट या वैकेशन होम खरीदते समय लोग ऐसी प्रॉपर्टी की ओर देखते हैं, जिसे वो अपने सपने में देखते हैं। वो एक ऐसा मकान होता है, जिसमें वो सभी तरह की सुविधाएं चाहते हैं, लेकिन ऐसा घर काफी हाई मेंटेनेंस वाला होता है। ऐसा मकान खरीदते वक्‍त लोग इस बात का ध्‍यान नहीं देते कि मरम्‍मत और रखरखाव की लागत आपके बैंक बैंलेंस को चूस रही है। ऐसे में इस तरह का घर खरीदना कोई फायदा का सौदा नहीं है।

इन सब पर नहीं देते हैं ध्‍यान
कई बार बेहद ही छोटी, लेकिन बेहद जरूरी बातों को करना भूल जाते हैं, जिसके बाद उन्‍हें पछतावा होता है। वास्‍तव में किसी भ्‍ज्ञी रेजिडेंश‍ियल सोसायटी में घरों के रंग, कार पार्किंग लॉन की घास काटने जैसे सवाल खड़े होते हैं। ऐसे में घर खरीदार को पहले सोसायटी एसोसिएशन के अधिकारियों से मिलकर वहां पर पहले की सभी शर्तों और नियमों के बारे में जानकारी हासिल जरूर करनी चाहिए। ताकि आपको बाद में यह ना लगे कि वो बंध गए हैं।