चन्नी को पंजाब सीएम बनाने पर बीजेपी के अमित मालवीय ने कसा कांग्रेस पर तंज, मी टू का हवाला दे कहा- वेल डन राहुल

मालवीय ने इस साल मई में प्रकाशित खबर भी साझा की है, जिसमें कहा गया है कि निवर्तमान मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर पार्टी के भीतर मौजूद उनके विरोधियों ने उन पर पुराने मामलों को लेकर परेशान करने का आरोप लगाया था।

Charanjit Singh Channi चरणजीत सिंह चन्नी (Express Photo: Kamleshwar Singh, File)

चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम चुनने पर भाजपा ने कांग्रेस पर तंज कसा है। बीजेपी की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि कांग्रेस ने चरणजीत चन्नी को मुख्यमंत्री पद के लिए चुना, जिन्होंने तीन साल पुराने ‘मीटू’ मामले में कार्रवाई का सामना किया था। उन्होंने कथित तौर पर वर्ष 2018 में एक महिला आईएएस अधिकारी को अनुचित संदेश भेजा था। उस मामले को दबा दिया गया था, लेकिन पंजाब महिला आयोग द्वारा नोटिस भेजने के बाद दोबारा सामने आया। उन्होंने लिखा- वेल डन, राहुल।

मालवीय ने इस साल मई में प्रकाशित खबर भी साझा की है, जिसमें कहा गया है कि निवर्तमान मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर पार्टी के भीतर मौजूद उनके विरोधियों ने उन पर पुराने मामलों को लेकर परेशान करने का आरोप लगाया था। वर्ष 2018 में लगे आरोपों के बाद पंजाब महिला आयोग ने खुद संज्ञान नेते हुए सरकार से मामले पर उसका रुख पूछा था। उस समय अमरिंदर सिंह ने चन्नी को महिला अधिकारी से माफी मांगने को कहा था। सीएम ने कहा था कि इस मामले का समाधान महिला अधिकारी के संतुष्ट होने के साथ हो गया है।

गौरतलब है कि यह मामला इस साल मई में उस समय दोबारा सामने आया था, जब पंजाब महिला आयोग की अध्यक्ष ने धमकी दी कि अगर एक हफ्ते के भीतर राज्य सरकार चन्नी के आपत्तिजनक संदेश भेजने के मामले पर अपना रुख साफ नहीं करेगी तो वह अनशन पर चली जाएंगी। उस समय चन्नी अमरिंदर सरकार में मंत्री थे। पंजाब महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी ने कहा था कि उन्होंने सरकार की कार्रवाई रिपोर्ट के लिए मुख्य सचिव को पत्र लिखा है।

हालांकि, तब मामले ने तूल नहीं पकड़ा। अलबत्ता जब सोनिया गांधी ने चन्नी को सीएम बनाने की घोषणा की तो बीजेपी की बांछें खिल उठीं। तमाम नेता चन्नी के बहाने आलाकमान पर निशाना साधने लगे। बीजेपी नेताओं को लगता है कि सिद्धू और चन्नी की दागदार छवि उनके लिए फायदेमंद होगी। कैप्टन के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि अमरिंदर सिंह जनता द्वारा पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे। पंजाब में कांग्रेस की सरकार है, इसलिए वो जिसे सीएम चुनना चाहते हैं वे कर सकते हैं। 4-6 महीने की बात है, जनता फिर से अपना सीएम चुनेगी।