चुनाव से पहले गोवा में नौकरियों पर AAP के सात बड़े ऐलान, रोजगार न मिलने तक हर घर के एक युवा को मिलेंगे 3000 रुपए

केजरीवाल ने कहा, “युवा मुझसे कहते थे कि अगर किसी को यहां पर सरकारी नौकरी चाहिए, तो उनकी किसी मंत्री से पहचान होनी चाहिए। विधायक- गोवा में बगैर घूस/सिफारिश के सरकारी नौकरी मिलना असंभव है। हम इस चीज को खत्म करेंगे। गोवा की सरकारी नौकरियों पर यहां के युवा का हक होगा।”

arvind kejriwal, aap, goa गोवा के पणजी शहर में 21 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल। (फोटोः @AAPGoa/टि्वटर)

गोवा में विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) ने रोजगार को बड़ा मुद्दा बनाते हुए मंगलवार (21 सितंबर, 2021) को पणजी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सूबे के युवाओं को ध्यान में रखते हुए सात बड़े ऐलान किए।

केजरीवाल ने कहा, “युवा मुझसे कहते थे कि अगर किसी को यहां पर सरकारी नौकरी चाहिए, तो उनकी किसी मंत्री से पहचान होनी चाहिए। विधायक- गोवा में बगैर घूस/सिफारिश के सरकारी नौकरी मिलना असंभव है। हम इस चीज को खत्म करेंगे। गोवा की सरकारी नौकरियों पर यहां के युवा का हक होगा।”

केजरीवाल ने किए ये सात ऐलानः

1 – हर सरकारी नौकरी पर आम युवा का हक होगा। सिस्टम पारदर्शी बनाएंगे।
2 – सूबे के हर घर से एक बेरोजगार युवा को नौकरी के लिए बंदोबस्त करेंगे।
3 – जब तक रोजगार नहीं मिलता, तब तक तीन हजार रुपए प्रति माह बेरोजगारी भत्ता देंगे।
4 – 80 फीसदी नौकरियां सूबे के युवाओं के लिए आरक्षित रहेंगी। प्राइवेट नौकरियों में भी ऐसी व्यवस्था के लिए कानून लाएंगे।
5 – कोरोना के कारण पर्यटन पर असर पड़ा। टूरिज्म पर निर्भर लोगों का रोजगार जब तक पटरी पर नहीं आता, तब तक उन परिवारों को पांच हजार रुपए प्रतिमाह देंगे।
6 – माइनिंग पर निर्भर परिवार हैं, उन्हें भी काम चालू होने तक उन परिवारों को भी पांच हजार रुपए प्रति माह देंगे।
7 – नौकरियों के सृजन के लिए स्किल यूनिवर्सिटी खोली जाएगी।