चुराने के बाद वैक्सीन लौटा गया बदमाश, चिट्ठी में लिखा- सॉरी, पता न था कि कोरोना की दवाई है; कुमार विश्वास बोले- मेरे देश के नेता, इसे पढ़ें

हरियाणा के जींद स्थित सरकारी अस्पताल से गुरुवार सुबह कोरोना वैक्सीन चोरी होने का खुलासा हुआ था, इसके बाद पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी।

Coronavirus, COVID-19 Vaccines

हरियाणा के जींद स्थित एक सरकारी अस्पताल के पीपी सेंटर से बीती रात ताला तोड़कर चोरी किये गए कोरोनावायरस टीकों की 1710 खुराक की खेप गुरुवार शाम को नाटकीय ढंग से सिविल लाइन थाने पहुंच गई। पुलिस के मुताबिक शाम करीब पांच बजे बाइक सवार एक व्यक्ति थाने के बाहर चाय की दुकान पर टीकों की 1710 खुराक से भरा थैला दुकानदार के पास यह कहकर छोड़ गया कि उसमें मुंशी (थाने के कर्मी) का खाना है। पुलिस के मुताबिक थैले के अंदर एक पर्ची भी मिली है जिस पर लिखा था “सॉरी पता नहीं था कोरोना की दवाई है।”

अब चोरों द्वारा कोरोना वैक्सीन लौटाने की इस घटना पर कवि कुमार विश्वास ने तंज कसा है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर चोरों के नोट को शेयर करते हुए लिखा, “मेरे देश के प्रिय नेताओं, कृपया इसे पढ़ें। राष्‍ट्रीय आपदा के इस समय में चोरों तक में कुछ नैतिकता बची है।” उन्होंने ट्वीट में आगे ही लिखा- “सबको सम्मति दे भगवान।”

पुलिस ने शुरू की मामले की जांच: जींद के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) ओपी नरवाल ने बताया कि सामान्य अस्पताल के पीपी सेंटर से चोरी हुई टीकों की खुराक की खेप कोई व्यक्ति शाम को थाने के बाहर एक दुकान पर दे गया, फिलहाल मामले की जांच पुलिस द्वारा की जा रही है।

थाना पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से बाइक सवार का सुराग लगाने की कोशिश कर रही है। हालांकि, पीपी सेंटर से गायब हुई फाइलों का अब तक कोई सुराग नहीं लगा है।

गौरतलब है कि सिविल अस्पताल के पीपी सेंटर में बुधवार शाम को टीकाकरण शिविरों से बची हुई टीके की 1710 खुराक फ्रिज में रखी गई थीं। इनमें कोविशील्ड की 1270 खुराक और कोवैक्सीन की 440 खुराक शामिल थीं। बुधवार की रात चोरों ने पीपी सेंटर का ताला तोड़ कर फ्रिज में रखी टीके की खुराक और दूसरे कमरे में रखी ‘इंक्वायरी फाइल’ चोरी कर ली गई थी।